जल गुणवत्ता पखवाडे के अतंर्गत कराहल क्षेत्र के ग्रामों में प्रशिक्षण आयोजित

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग परिक्षेत्र ग्वालियर  संजय अंडमान के निर्देशन में वीडियो काॅन्फ्रेस के माध्यम से 22 जिलों में पेयजल परीक्षण एवं स्वच्छता पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है। मुख्य अभियंता श्री संजय अंडमान द्वारा निर्देश दिए गए कि पखवाड़े के तहत जितने भी पेयजल स्त्रोतों का गुणवत्ता परीक्षण हो रहा है। उसमें यह सुनिश्चित किया जाए कि उनका क्लोरिनेशन हो एवं स्वच्छता सर्वे भी सही मापदंडों में हो। श्री अंडमान द्वारा वीडियो द्वारा संपर्क कर श्योपुर जिले में चल रहे पखवाड़े की गतिविधियों को देख रहे थे।
जिला सलाहकार श्रीमती आराधना पाराशर ने बताया कि श्योपुर जिले आदिवासी विकासखण्ड कराहल के ग्राम गडला, सिलपुरी, बरगवां, करहाल, गोरस ग्राम पंचायतों के पेयजल स्त्रोतों का आज जल परीक्षण किया गया। साथ ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्वच्छ पेयजल के महत्व वह जल जनित बीमारियों से संबंधित आईईसी मटेरियल भी वितरित किया गया। ग्राम पंचायतों में पांच-पांच महिलाओं के समूह बनाकर क्षेत्र परीक्षण किट का प्रशिक्षण दिया गया। कल की ग्राम सभा में ग्राम कार्य योजना का अनुमोदन किस प्रकार से किया जाना है यह भी बताया गया।
इसी प्रकार क्षेत्र परीक्षण किट का प्रशिक्षण दिया गया। साथ ही समुदाय की सहभागिता को जल जीवन मिशन में सक्रिय बनाने के लिए समितियों से भी चर्चा कर उन्हें बताया कि गांव की समस्त योजनाओं को अच्छी तरह से संचालित और संधारित करने के लिए समितियों को आगे आना होगा। साथ ही ग्राम विकास की सभी गतिविधियों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना होगा। जल जीवन मिशन में ग्राम के लिए जो भी पेयजल की  योजना बनाई जा रही है। यह ग्रामवासियों की आवश्यकता के अनुरूप ही बनी है। अपनी आवश्यकताओं और कर्तव्यों को सामंजस्य स्थापित करके ग्राम विकास के कार्य में आगे आएं।
उन्होने ने बताया कि वर्ष 2024 तक सभी को नल से जल प्रदाय किया जाएगा। योजना एक बार बन जाएगी उसका संचालन और संधारण हमेशा ही रहेगा। और योजना को चलाना किसी एक व्यक्ति का काम नहीं है। यह योजना ग्राम की है। ग्राम वासियों के लिए है। इसीलिए जितना भी काम अभी ग्रामों में रिट्रोफिटिंग का चल रहा है। उसमें सभी लोग सहयोग प्रदान करें। नलों में टूटियां लगाएं पानी को व्यर्थ ना बहाएं एवं उचित तरीके से कनेक्शन ले अपनी मर्जी से पाइप लाइन खोदकर कनेक्शन ना लें पाइप लाइन को बीच में से तोड़ने पर पानी की गुणवत्ता पर भी फर्क पड़ता है। शुद्ध पानी पिए बीमारियों से बचे रहें स्वच्छता का ध्यान रखें