कुरीति के दलदल से निकलने की चाह में”ऑपरेशन अस्मिता” बना संबल

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- बूंदी जिला प्रशासन द्वारा समुदाय विशेष में व्याप्त कुरीति को दूर करने के उद्देश्य से चलाए जा रहे ‘ऑपरेशन अस्मिता’ की प्रेरणा से एक युवक-युवती शनिवार को विवाह बंधन में बंध गए।
जिला प्रशासन द्वारा पुलिस के सहयोग से शनिवार सायं वैष्णो माता मंदिर में विवाह आयोजन कराया गया।जिला कलेक्टर रेणु जयपाल, जिला पुलिस अधीक्षक जय यादव, नगर परिषद सभापति मधु नुवाल, अतिरिक्त कलेक्टर एयू खान, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरी लाल की मौजूदगी में विवाह की रस्में की गई। सभी ने नव युगल को आशीर्वाद दिया।
यह सारा वाकया महज 6 घंटों का है। युवक युवती ने जिला कलेक्टर से संपर्क किया। उनके निवास पर जाकर उनसे आज ही विवाह कराने की गुहार की। इस पर बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार के सहयोग से तैयारियां शुरू की गई। जिला कलेक्टर ने अपना लहंगा युवती को दिया। बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार की मदद से वह वधू के रूप में सजने चली गई। इसी बीच विभिन्न समाजसेवी और संस्थाएं सहयोग के लिए आगे आ गए और विवाह का मंडप सज गया ।
जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने बताया कि रामनगर निवासी युवक युवती ने शनिवार दोपहर उनसे संपर्क कर कुरीति से दूर हो आपसी सहमति से विवाह करने की इच्छा जताई। इस पर सदर थाना प्रभारी के विशेष प्रयासों से विवाह की रूपरेखा बनाई गई और समाजसेवियों की मदद से तुरंत ही विवाह की तैयारियां शुरू कर दी गई। उन्होंने कहा कि ‘ऑपरेशन अस्मिता’ के अंतर्गत शिक्षा और जागरूकता से मानसिकता मे बदलाव का बीड़ा उठाया गया है। समाज के लोग इस तरह आगे आएं तो प्रशासन एवं पुलिस उनके मददगार बनेंगे और कुरीति को दूर किया जा सकेगा।
पुलिस अधीक्षक जय यादव ने बताया कि कुरीति को दूर करने के लिए उठाए कदमों में पुलिस प्रशासन के साथ है ताकि प्रभावित गांवों को कुरीति मुक्त कर विकास की राह पर बढ़ाया जा सके।
सदर थाना प्रभारी ने किया कन्यादान
सदर थाना प्रभारी अरविंद भारद्वाज ने विवाह आयोजन में प्रमुख भूमिका भूमिका निभाई। शादी में वधू पक्ष की ओर से किसी के नहीं आने पर सदर थाना प्रभारी ने स्वयं कन्यादान की रस्म निभाई। शादी में वर पक्ष के लोग मौजूद रहे।
पार्षद टीकम जैन तथापंजाबी जन सेवा समिति के सहयोग से विवाह आयोजन की व्यवस्थाएं संभाली गई ।सामर्थ्य संस्था अध्यक्ष राशि माहेश्वरी, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार, राजस्थान ब्राह्मण महासभा (महिला) अध्यक्ष किरण शर्मा, केशोरायपाटन के रफीक, पुरूषोत्तमलाल पारीक ने भी विवाह आयोजन में अपना सहयोग दिया। कन्यादान किया एवं उपहार दिए गए।
कुरीति के दलदल से दूर खुशी चाहते हैं
वर विकराज तथा वधू सारिका ने कहा कि वे दोनों करीब 3 साल से एक दूसरे से प्रेम करते हैं और विवाह करना चाहते थे। जिला कलेक्टर से संपर्क किया और पुलिस ने मदद की तो आज सपना पूरा हो गया। वे कुरीति से दूर खुशनुमा जिंदगी जीना चाहते हैं।