कलेक्ट्रेट का घेराव : त्रिकालदर्शी पंडोखर महाराज के विरोध में आये बरचोली के ग्रामीण

दतिया।  जिला का बहुचर्चित त्रिकालदर्शी पंडोखर महाराज गुरुशरण शर्मा का मामला थमने का नाम नही ले रहा है। पीड़ित पटवारी अंकित पाराशर की गम्भीर मारपीट के मामले में गुरुशरण शर्मा समेत आरोपियो की गिरफ्तारी न होने के आंदोलन किये जा रहे है।

इसी मामले को पीड़ित अंकित पाराशर के समर्थन में मंगलवार को बरचोली के ग्रामीणों ने पुरानी कलेक्ट्रेट का घेराव किया और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आरडी प्रजापति को ज्ञापन सौपकर त्रिकालदर्शी पंडोखर महाराज गुरुशरण शर्मा की गिरफ्तारी की मांग की एवं पंडोखर महाराज कर विरोध में ढोंगी बाबा मुर्दाबाद के नारे लगाए। मंगलवार के दिन भांडेर के ग्राम बरचोली के ग्रामीणों ने मुख्यालय पहुँचकर पुरानी कलेक्ट्रेट का घेराव किया।

कलेक्ट्रेट का घेराव करते हुये पुलिस प्रशासन के समाने ग्रामीणों ने पंडोखर महाराज गुरुशरण शर्मा के विरोध में प्रदर्शन करते हुऐ मुर्दाबाद की नारेबाजी की एवं पंडोखर महाराज समेत आरोपियों की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आरडी प्रजापति को ज्ञापन देकर गिरफ्तारी की मांग की है। वही पीड़ित पटवारी पक्ष पर दबाब में दर्ज कराए गए झूठे प्रकरण को बापिस लेने की मांग की है। ज्ञापन के दौरान ग्रामीणों ने कहा कि पंडोखर महाराज गुरुशरण एक बाहुबली व्यक्ति है ओर पीड़ित पटवारी पक्ष पर राजीनामा करने का दबाब बनाया जा रहा है तथा राजीनामा नही करने पंडोखर महाराज कोई बड़ी घटना कारित करा सकता है। जिससे पंडोखर महाराज को शीघ्र गिरफ्तार किया जाये। वही ग्रामीणों ने बताया कि पंडोखर महाराज पूरे क्षेत्र में ख़ोप साये में धर्म की दुकान चला रहा है ओर पहले भी झूठे मुकदमे दर्ज करा चुका है।

गौरतलब है प्रार्थी अंकित पाराशर पटवारी के साथ दिनांक 02.02.2020 को रात्रि करीब 11:00 बजे गुरुशरण उर्फ पंडोखर महंत पुत्र अशोक शर्मा उनके भाई रामजीशरण ग्राम पंडोखर तथा उनके बहनोई विनोद शर्मा पुत्र सुरेश शर्मा निवासी- करेरा जिला शिवपुरी तथा 6 अन्य लोगों ने गंभीर मारपीट कर तथा उन्हें अगुवाह कर प्रार्थी को मरणासन्न स्थिति में ग्राम पंडोखर मैं भिंड भांडेर रोड मुख्य मार्ग पर फेंक गए थे प्रार्थी के पिता तथा क्षेत्र के अन्य लोगों के द्वारा उक्त घटना के संदर्भ में एक आवेदन- पत्र थाना प्रभारी पुलिस थाना पंडोखर को प्रस्तुत किया था। जिस पर पुलिस पंडोखर के द्वारा उक्त आरोपियों के विरुद्ध धारा 307, 392, 147, 148, 149, 506 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया। किंतु उक्त घटना के आरोपी दिनांक 11.02. 2020 तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं वहीं प्रार्थी ने बीती दिनांक 04 फरवरी को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को आवेदन दिया था कि आरोपी प्रार्थी पर झूठी कार्रवाई कराने का प्रयास कर रहे हैं और ऐसा आगे भी कर सकते हैं।

चूकिं आरोपी पहले भी कि अपराधों में संलिप्त है। ज्ञापन में बताया गया है कि गुरुशरण जनपद उपाध्यक्ष के पद पर था उसके द्वारा तत्काल जनपद अध्यक्ष जसोदा बाई के पुत्र जीवन परिहार एवं अन्य लोगों पर थाना पंडोखर में अपराध 125/ 15 धारा 307, 34 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध किया गया। विवेचना के दौरान पता चला कि गुरुशरण द्वारा अपने गनमैन अपनी गाड़ी पर हमला करवाया था। जिसमें पुलिस द्वारा ख़ारिजी कर्ता की गई है।

गुरुशरण द्वारा पहले भी झूठा प्रकरण दर्ज कराकर लोगों पर दबाव बनाया गया है। यह ऐसी प्रवृत्ति का आदी है। गुरुशरण मुकेश खटीक द्वारा प्रार्थी पर झूठा मुकदमा दर्ज कराया है। अगर मुकेश खटीक जोकि गुरुशरण द्वारा कोई भी अनहोनी होती है जिसकी समस्त जिम्मेदारी गुरुशरण कि होगी। हम समर्थ क्षेत्रवासी आवेदन देकर सुचित कराना चाहते हैं कि आरोपियों को जल्दी से जल्दी गिरफ्तार किया जाए अन्यथा हम क्षेत्रवासी मिलकर एक बड़ा जन आंदोलन कर सकते हैं।

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com