कलेक्टर व एसपी के निर्देशन में अभियान के तहत

दतिया @rubarunews.com>>>>>  जिले में आचार संहिता के लागू होने पर विधानसभा उप निर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुये विशेष दल का गठन किया गया है। दतिया जिले में अवैध मदिरा की बिक्री की रोकथाम हेतु कलेक्टर दतिया बी. विजय दत्ता द्वारा सतत् कार्यवाही हेतु निर्देशों के पालन में गठित दल द्वारा सामूहिक दविश हेतु योजना बनाकर म.प्र. आबकारी अधिनियम 1915 की विभिन्न धाराओं के अन्तर्गत अवैध मदिरा धारण, परिवहन, चैर्यनयन एवं विक्रय के विरूद्ध आबकारी विभाग जिला दतिया द्वारा संयुक्त दविश कार्यवाही की गई।

 

मुखबिर से प्राप्त सटीक सूचना पर गुरूकरन सिंह, पुलिस अधीक्षक के सहयोग से सुश्री निधि जैन, जिला आबकारी अधिकारी दतिया के निर्देशन में आबकारी वृत्त भाण्डेर में स्थित ग्राम ततारपुर, पुलिस थाना भाण्डेर में आबकारी विभाग एवं पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त दविश दी गई।

दौराने दविश मौके पर 16000 कि.ग्रा. गुड़ लाहन एवं 735 लीटर हाथ भट्टी शराब, अवैध मदिरा बनाने के उपकरण एवं संग्रहित किये जाने का सामान (80 नीले रंग के ड्रम, 03 परांत, 03 भट्टी, 03 मोटरसायकिल व अन्य सामान्य) जब्त कर आबकारी अधिनियम की धारा 34(1) के तहत 03 प्रकरण, 34(2) के तहत 02 प्रकरण इस प्रकार कुल 05 अज्ञात प्रकरण कायम किये गये । दल-बल को देखकर अड्डे से आरोपी भाग निकले। उक्त प्रकरणों में कुल जप्त शराब, अवैध मदिरा बनाने एवं संग्रहित किये जाने का सामान कुल अनुमानित कीमत 11,61,250/- रूपये है।

 

जब्त अवैध मदिरा के सैम्पल लिये जाकर न्यायिक विज्ञान, प्रयोगशाला में भेजने की कार्यवाही की जा रही है। दतिया जिले में इस तरह के अवैध शराब के कोराबार पर अंकुश लगाने के लिये आबकारी विभाग समय-समय पर इस तरह की कार्यवाही करता रहेगा। इसके लिये जिले में विशेष अभियान (Special Drive) चलाया जा रहा है। इस तरह कार्यवाही सतत् जारी रहेगी।

उक्त कार्यवाही में सहायक जिला आबकारी अधिकारी  के. एल. भगौरा, वृत्त प्रभारी भाण्डेर आबकारी उपनिरीक्षक  टी.आर. वर्मा, आबकारी उपनिरीक्षक अनिरूद्ध खानविलकर व पुलिस विभाग से राघवेन्द्र सिंह तोमर, उपनिरीक्षक, पुलिस लाइन एवं अन्य पुलिस बल व आबकारी मुख्य आरक्षक शारदा प्रसाद तिवारी व आबकारी आरक्षक अशोक शर्मा, संजय शर्मा,  प्रताप सिंह जाटव,  रवि विसारिया, मनीष यादव, अवधेश भदौरिया, लक्ष्मीनारायण मांझी, आबकारी वाहन चालक जानकी कुशवाह, अजय गौतम, अनिल यादव एवं मुकेश ओझा का सराहनीय योगदान रहा ।