आंगनबाड़ी कार्यकताओं का गृह वाटिका प्रशिक्षण सम्पन्न

बूंदी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com- राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान नारी कार्यक्रम पोषण संवेदी कृषि संसाधन एवं नवोमेशण के अन्तर्गत महिला बाल विकास की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का गृह वाटिका से संबंधित दो दिवसीय प्रशिक्षण कृषि विज्ञान केन्द्र में आयोजित हुआ।
वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष प्रो. हरीश वर्मा ने बताया कि महिला बाल विकास विभाग द्वारा सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गृह वाटिका लगवाई जा रही है, जिसकी देखरेख आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करेंगी। उन्होंने गृह वाटिका में पोषण की उपयोगिता पर प्रकाश डाला। उन्होंने इसमें लगने वाले कीट रोगों के बारे में बताते हुए उनके समन्वित प्रबन्धन, तकनीकों की प्रायोगिक जानकारी भी दी।
प्रशिक्षण प्रभारी डाॅ. कमला महाजनी, गृह वैज्ञानिक ने न्यूट्री थाली व न्यूट्री गार्डन के महत्व पर जानकारी देते हुए बताया कि घर में सब्जियाँ, फल व औषधीय पादप लगाकर उनका उपयोग करके कुपोषण जैसी समस्या से लड़ा जा सकता है। इसके लिए प्रत्येक आंगनबाड़ी में गृहवाटिका लगायी जाएं, जिससे गर्भवती, धात्री व किशोर बालिकाओं के पोषण स्तर में सुधार हो सके। साथ ही न्यूट्री थाली में तिरंगा भोजन शामिल करने को कहा। तिरंगे में केसरिया रंग के अनाज, फल वाले सब्जियाँ, सफेद रंग की दूध व दूध से बने पदार्थ व हरे रंग की सब्जी व फलों का समावेश 24 घण्टे तिरंगे के चक्र की 24 तीलियों की तरह होना चाहिए। इसके अलावा सब्जियों को धोने की विधियाँ, गिलोय द्वारा इम्यूनिटी बूस्टर पेय बनाने के बारे में भी बताया। इसमें उद्यान विशेषज्ञ इंदिरा यादव ने सहयोग किया।
प्रशिक्षण के दौरान शस्य विशेषज्ञ डाॅ. राकेश कुमार बैरवा ने बायोफाॅर्टीफाइड किस्मों की जानकारी देने के साथ ही इनसे कुपोषण में होने वाले लाभ के बारे में बताया। प्रशिक्षण में कुल 49 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। केन्द्र पर डाॅ. के.एन.मोदी विश्वविद्यालय, निवाई से आये हुए रेड्डी कार्यक्रम के छात्रों ने प्रशिक्षण में सहयोग किया।
—-