शिक्षक हत्याकांड में पुलिस को मिली बड़ी सफलता-आरोपी गिरफ्तार

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेश खरपुसे के मर्गदर्शन में एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस लहार अवनीश बंसल के निर्देशन में, थाना प्रभारी रौन उदयभान सिंह यादव ने दो वर्ष पूर्व मिहोना थाना क्षेत्र की राजघाट की पुलिया पर हुई अनिल अग्निहोत्री की हत्या का पर्दाफास करने ने महत्वपूर्ण सफलता हांसिल की है । पुलिस अधीक्षक ने बताया विगत वर्ष 19 सितम्बर 2019 को अनिल अग्निहोत्री जो पेसे से शिक्षक थे और रात्रि में शराब के नशे में दुत्त होकर मिहोना से राजघाट की पुलिया पर जा पहुंचे ओर अपनी सिगरेट की तलब बुझाने के लिए वहां बैठकर दारू पी रहे थे तभी, अपराधी प्रवृत्ति के दो लोगों प्रदीप जाटव निवासी बिलाव एवं कमलेश जाटव निवासी चतुर्वेदी नगर भिंड से माचिस लेने जा पहुंचे आरोपियो ने मौके की नजाकत को भांपते हुए मृतक अनिल अग्निहोत्री की जेब मे डले 1500 रुपये निकाल लिए जिससे मृतक भडक गया और मोबाइल निकालकर पुलिस बुलाने की धमकी देने लगा, जिसके चलते दोनो आरोपियों ने पत्थर से पटक-पटक कर शिक्षक अनिल अग्निहोत्री की हत्या कर दी और वहां से फरार होकर सीधे अपने रिश्तेदार राजू जाटव के यहां पहुंचे जहां पुलिस आने के डर से रात्रि में ही भिंड रवाना हो गए इस अपराध में बडोखरी निवासी राजू जाटव ने मृतक का मोबाइल एवं बाइक, जंजीर आदि सामान को खुर्दबुर्द करने में आरोपियों की मदद की।

 

मोबाइल बना अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने का जरिया

पुलिस ने बताया इस अंधे कत्ल को खोलने के लिए मृतक का मोबाइल ट्रेकिंग पर डाला गया जो राहुल निवासी बिलाव जो मुम्बई में रहता था, चलाते पाया गया उसे बुलाकर पूछतांछ की गई, लेकि कुछ हांसिल नहीं हुआ पुन: जांच प्रारंभ कर मुखबिर की सूचना से राजू निवासी बडोखरी को पकडा गया, जिसने पूरी घटना बताई और मृतक के सामान की बरामदगी करवाई जिसमे एक आरोपी प्रदीप जाटव जो एक वर्ष पूर्व अज्ञात कारणों के चलते फासी लगाकर आत्महत्या कर चुका है और कमलेश निवासी भिंड से मोटरसाइकिल बरामद की गई सभी आरोपियो को न्यायालय में पेश कर दाखिले हवालात किया गया ।

 

इनकी रही अहम भूमिका

पुलिस की इस कार्यबाही में थाना प्रभारी रौन उदयभान सिंह यादव, थाना प्रभारी मिहोना संजय सोनी, चौकी प्रभारी मछण्ड यतेंद्र भदौरिया, थाना प्रभारी नयागांव हरजेंद्र सिंह चौहान, उपनिरीक्षक रौन प्रवेंद्र सिंह, आरक्षक अजय सिंह चौहान, आरक्षक जितेंद्र गुर्जर, आरक्षक सूरज जाट, आरक्षक उदयवीर एवम आरक्षक चालक विक्रमसिंह जादौन की सराहनीय भूमिका रही ।

 

ये हुई बरामदगी

मृतक अनिल अग्निहोत्री के हत्यारों से मोटरसाइकिल, मोबाइल, हेलमेट, पर्स एवं घडी बरामद की गई।

आरोपियों पर किया गया था 10 हजार इनाम घोषित

लहार कांग्रेस के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री एवम लहार विधायक डॉ. गोविंद सिंह ने अनिल अग्निहोत्री मर्डर का खुलासा करने वाली टीम को 10 हजार रुपये इनाम स्वरूप देकर सम्मानित करने की घोषणा की है।

 

मृतक के परिजनों ने दी टीम को बधाई

मृतक अनिल अग्निहोत्री के भाई सुभाष अग्निहोत्री एवम मृतक की पत्नी आराधना अग्निहोत्री ने मर्डर केस का खुलासा करने बाली पूरी टीम एवं पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह एवं एसडीओपी लहार को बधाई देते हुए कहा है कि मेरे भाई की हत्या करने वाले हत्यारो को सलाखों के पीछे भेजने वाली पूरी टीम के हम सदैव आभारी रहेंगे और कोरोना खुलने के पश्चात पूरी टीम को मेरे परिवार एवं ईस्ट मित्रों द्वारा सम्मानित भी किया जायेगा।