परेशानी बताने आए लोगों को लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने किया आश्वस्त

कोटाKrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com>> संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी के सात दिवसीय प्रवास पर आए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला(Lok Sabha Speaker Om Birla) कैंप कार्यालय में आमजन से मिले। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने उन्हें अपनी परेशानियों से अवगत कराया। बिरला ने समस्याओं के हर संभव समाधान के लिए आश्वस्त किया।

कैंप कार्यालय में विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों से आए प्रतिनिधियों ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला को एफसीआई के खरीद केंद्रों से जुड़ी समस्याओं की जानकारी दी। इन लोगों ने बिरला को बताया कि एफसीआई खरीद केंद्रों पर अव्यवस्थाओं के चलते किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने बताया कि पहले तो टोकन ही नहीं मिल रहा है, टोकन यदि मिल भी जाए तो तुलाई में काफी अधिक समय लग रहा है। इसके अलावा राजफेड के खरीद केंद्र प्रारंभ नहीं होने से भी किसानों में भ्रम की स्थिति है। इन लोगों ने बिरला से आग्रह किया कि वह हस्तक्षेप कर समस्याओं को दूर करवाएं।

बिरला ने सभी की बात को ध्यान से सुना तथा कहा कि वे इस मामले में अधिकारियों से बात करके अव्यवस्थाओं को दूर करवाएंगे। उन्होंने कहा किसान हमारा अन्नदाता है। किसान को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। हमारा प्रयास रहेगा कि एफसीआई की खरीद केंद्रों पर किसानों को समुचित सुविधाएं मिलें l

इसके अलावा भी बड़ी संख्या में लोग अपनी समस्याएं बताने तथा क्षेत्र में विकास संबंधी आग्रह के साथ लोकसभा अध्यक्ष बिरला(Lok Sabha Speaker Birla) से मिलने कैंप कार्यालय पहुंचे। बिरला ने उनकी समस्याओं को सुना तथा संबंधित अधिकारियों को निराकरण के निर्देश दिए।

कोरोना से बचने के लिए सावधानी जरूरी

तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला (Lok Sabha Speaker Birla) ने लोगों से आवश्यक सावधानी बरतने का भी आग्रह किया। बिरला ने कहा कि काम भी जरूरी है और सावधानी रखना भी जरूरी है। लोग जब भी घर से बाहर निकले कोविड गाइडलाइंस की पालना करें।

होली की राम-राम, कुशल से भी पूछी

लोकसभा का बजट सत्र समाप्त होने तथा कोरोना से स्वस्थ होने के बाद लोकसभा अध्यक्ष बिरला( (Lok Sabha Speaker Birla) का यह पहला कोटा दौरा था। इस कारण बड़ी संख्या में लोग होली की रामा-श्यामी करने तथा बिरला की कुशल क्षेम पूछने के लिए भी कैंप कार्यालय पहुंचे।