विधायक एवं कलेक्टर ने डेंगू पर प्रहार जन अभियान जागरुकता रथ को दिखाई हरी झण्डी 

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> डेंगू पर नियंत्रण हेतु (डेंगू पर प्रहार) अभियान अंतर्गत जिला मुख्यालय स्थित भीमनगर में डेंगू पर प्रहार जन अभियान जागरुकता रथ को क्षेत्रीय विधायक संजीव सिंह कुशवाह एवं कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही मच्छर जन्य परिस्थितियों के उपायों पर विशेष जागरुकता अभियान चलाया गया एवं मलेरिया वर्करों द्वारा घरों के आस-पास एंटी लार्वा, पाउडर छिड़काव कर डेंगू से बचाव का जनसामान्य में जागरुकता अभियान चलाकर समझाईस दी।

क्षेत्रीय विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने डेंगू, मलेरिया को फैलने से रोकने और बचाव के संबंध में लोगों को जागरुक करते हुए कहा कि डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारी बरसात के मौसम में और उसके बाद के महीनों ( माह जुलाई से अक्टूबर) में सबसे ज्यादा फैलता है क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं। एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता और डेंगू का मच्छर खासतौर पर सुबह के वक्त काटता है। काटे जाने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं और शरीर में बीमारी पनपने की मियाद 3 से 10 दिनों की भी हो सकती है।

कलेक्टर डॉ सतीष कुमार एस ने आम नागरिको को जागरूक करते हुए कहा कि डेंगू का मच्छर ठहरे हुए पानी में पनपता है इसलिए घरों में और आसपास के इलाको में पानी न जमा होने दें, कूलर में भरा पानी 2 से 3 दिन बाद जरूर बदल दें, सभी लोग अपने घर में पानी में केरोसीन या फिनायल डालकर नियमित पोछा लगाएं। मानसून के आगमन के साथ ही बदलते मौसम में डेंगू, चिकन गुनिया व मलेरिया जैसी मच्छर व जल जनित बीमारियां फैलने का अंदेशा बना रहता है। यह सभी बीमारियां भी घातक हैं और जानलेवा भी साबित हो सकती हैं। ऐसे में जरूरी है कि इन बीमारियों से बचाव को लेकर पहले से ही आवश्यक कदम उठाए जाएं।