हमारी संस्कृति व धर्म का मूल आधार गौ सेवा प्रकृति संरक्षण है

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> ग्राम लपवाह के हनुमानजी मंदिर परिसर में गौ संवर्धन पर्यावरण संरक्षण के अभियान के तहत ग्रामीणों द्वारा ग्राम चौपाल के कार्यक्रम का आयोजन रखा गया गौ संरक्षण के विषय पर मां गायत्री गौ रक्षा संगठन के संस्थापक राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित संतोष चौहान ने कहा जब तक हमारी गौ माता सुखी एवं सुरक्षित नहीं होगी तब तक हमारी संस्कृति-धर्म- देश-समाज सुरक्षित नहीं रह सकता पृथ्वी पर गौ माता ही मात्र एक देव स्वरूप प्राणी है जो 24 घंटे ऑक्सीजन एवं सकारात्मक ऊर्जा देकर मनुष्य और प्रकृति को इनर्जी प्रदान करती है गौ माता का दूध सात्विक पोस्टिक और समस्त रोगों को नष्ट करने की क्षमता रखने वाला अमृत तुल्य है गाय मनुष्य का और प्रकृति का कल्याण करने वाली 33 कोटि देवताओं का प्रत्यक्ष स्वरूप है गौ माता की सेवा से सुख समृद्धि मुक्ति मोक्ष ईश्वर कृपा की प्राप्ति होती है गायों की रक्षा के लिए स्वयं कृष्ण भगवान पैदल घूमे हैं गोसेवा की है। समाज के हर वर्ग के प्राणी को यथासंभव गोसेवा करके पुण्य लाभ प्राप्त करना चाहिए पर्यावरण प्रेमी सुमित शर्मा ने पर्यावरण के विषय पर बोलते हुए कहा कि बढ़ते भयानक बीमारियों के प्रकोप भूकंप अकाल बाढ़ गिरते जलस्तर आदि से होने वाली हानी से मनुष्य को यदि बचना है तो प्रकृति को बचाना होगा उसका संरक्षण करना होगा ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाएं हरे पेड़ ना काटे जाएं हरे पेड़ में भी प्राण होते हैं वह भी मनुष्य की तरह सांस लेता छोड़ता है सर्दी गर्मी को महसूस करता है हरे पेड़ को काटने वाले पर एक जीवित प्राणी की हत्या जैसा पाप लगता है।

शराब बिक्री पर प्रतिबंध की सरकार से की गई मांग

जहरीली शराब पीने से हो रही बड़ी संख्या में लोगों की मौत की घटनाओं से आमजन को बचाने के लिए सरकार से मांग की गई कि वह शराब बिक्री पर प्रतिबंध लगाए शराब समाज के लिए अत्यंत हानिकारक है ज्यादातर शराब के नशे में गृह क्लेश एवं सामाजिक अपराध की घटनाएं घटित होती हैं समाज हित की भावना से सरकार को शराब बिक्री पर प्रतिबंध लगाना चाहिए समाज हित ही सरकार का धर्म है। कार्यक्रम में राहुल बुधौलिया, शिबू भदोरिया, आकाश राजावत महुआ, सुमित शर्मा, पवन शर्मा, छोटूश्रीवास्तव अंकित चौधरी, सनी शर्मा सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहे।