नये साल से मिलेगा 83 लाख हितग्राहियों को लाभ 83 lakh beneficiaries will get benefit from new year

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com>> मध्यप्रदेश के लिये वर्ष 2022 ऐतिहासिक उपलब्धियों और जन-कल्याण के परिवर्तनकारी प्रयासों से भरपूर रहा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में नागरिक-हितैषी प्रशासन के अंतर्गत किये गये प्रयासों से वर्ष 2022 जन सेवा का वर्ष साबित हुआ।

सभी वर्गों का ख्याल रखते हुए अनेक जन हितैषी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन से गरीब, किसान, महिलाओं, बेटियों, युवाओं और जनजातीय वर्ग को सीधा लाभ मिला। मध्यप्रदेश को समृद्ध, विकसित और प्रगतिशील राज्य बनाने के लिये अनेक नवाचारी अभियानों की श्रंखला वर्षान्त तक जारी रही।

गरीबों को नि:शुल्क आवास, पथ विक्रेताओं को बिना ब्याज का ऋण, महिलाओं को स्व-रोजगार के लिये बैंक लिंकेज, किसानों को सम्मान निधि, किसानों को प्राकृतिक खेती के लिये प्रोत्साहित करने, खेती के लिये ड्रोन प्रणाली की शुरूआत, सिंचाई के क्षेत्र में वृद्धि, आँगनवाड़ियों में जन-भागीदारी, औद्योगिक क्षेत्रों में निवेश, सुशासन से सुराज और लाड़ली लक्ष्मी योजना -2 की लांचिंग 2022 के अहम पड़ाव रहे। स्व-रोजगार के लिये रोजगार मेले, जनजातीय वर्ग के हित में पेसा एक्ट लागू करने और मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान का संचालन ऐतिहासिक निर्णय साबित हुए।

नये साल से मिलेगा 83 लाख हितग्राहियों को लाभ 83 lakh beneficiaries will get benefit from new year

अनूठा रहा “मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान”

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के जन्म-दिन 17 सितम्बर से शुरू हुआ “मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान” 45 दिन चला। इस दौरान शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में 28 हजार 600 शिविर लगाये गये। इन शिविरों में प्राप्त आवेदनों का संवेदनशीलता के साथ निराकरण किया गया। केन्द्र और राज्य सरकार की 38 हितग्राहीमूलक योजनाओं के लिये 83 लाख आवेदन स्वीकृत किये गये। सभी 83 लाख नये हितग्राहियों को नये साल की शुरूआत से ही लाभ मिलना शुरू हो जायेगा।

मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान से जन सेवा का जो कार्य हुआ है, वह मध्यप्रदेश के लिए ऐतिहासिक है। यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की निर्धन और कमजोर वर्ग के प्रति संवेदनशीलता रेखांकित करता है।

मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान की अनेक विशेषता रही। इसके तहत लगाये गये शिविरों में आम नागरिकों को सूचना देकर आमंत्रित किया गया। यह पुष्टि भी की गई की शासन की योजनाओं में पात्र होने के बावजूद कौन-कौन से पात्र व्यक्ति योजनाओं के लाभ वंचित हैं। ऐसे सभी पात्र हितग्राहियों और परिवार को लाभ दिलाया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान अभियान अवधि के अधिकांश दिनों विकासखंड, ग्राम पंचायत और वार्ड स्तरों के शिविरों में पहुँचे। उन्होंने नागरिकों के बीच योजनाओं के मैदानी क्रियान्वयन की समीक्षा भी की। अभियान में लगे शिविरों की मॉनिटरिंग के साथ दस्तावेजीकरण का कार्य भी किया गया। शिविरों की प्रतिदिन की रिपोर्ट से मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव को अवगत कराया गया। मुख्यमंत्री ने अभियान अवधि में अच्छा कार्य करने वालों को सम्मानित एवं पुरस्कृत किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हितग्राहीमूलक योजनाओं में 100 प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने का हर संभव प्रयास किया। इस अभियान को जन-अभियान बना कर जहाँ एक ओर मंत्री-मंडल के सदस्यों सहित पंच-सरपंच और वार्ड पार्षदों को जिम्मेदारियाँ सौंपी, वहीं दूसरी ओर मुख्य सचिव से लेकर कमिश्नर-कलेक्टर और पटवारी स्तर के अमले ने अभियान को सफल बनाते हुए अनूठे परिणाम दिये। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में मात्र 45 दिन में 83 लाख पात्र नागरिकों को शासकीय योजनाओं से जोड़ा जा सका। इन सभी नागरिकों के जीवन में अब नया सवेरा आयेगा।