4 अक्टूबर से शुरू होगा ‘कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन,

बूंदी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com- कोविड-19 संक्रमण रोकथाम के लिए अब जन आंदोलन चलाया जाएगा। कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन की शुरुआत 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर प्रदेश स्तर पर होगी। जिला स्तर पर शुभारंभ 4 अक्टूबर को होगा। जिला प्रभारी मंत्री श्री परसादी लाल मीणा 4 अक्टूबर को सुबह 10 बजे कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन का शुभारंभ करेंगे। प्रभारी मंत्री 3 अक्टूबर को शाम 6 बजे बूंदी पहुंचेंगे एवं 4 अक्टूबर प्रातः 10 बजे कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन का जिला स्तर पर शुभारंभ करेंगे।
कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिला कलक्टर आशीष गुप्ता की अध्यक्षता में गुरुवार को बैठक हुई। बैठक में बताया गया कि अभियान का क्रियान्वयन स्थानीय निकायों द्वारा किया जाएगा। नगर परिषद आयुक्त अभियान के नोडल अधिकारी होंगे तथा विभिन्न शहरी क्षेत्रों में नगर पालिकाओं के अधिशासी अधिकारियों की देखरेख में अभियान का क्रियान्वयन किया जाएगा।
जिला कलक्टर ने बताया कि अभियान में मुख्य रूप से आमजन को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करना है। इसके लिए मास्क नहीं पहनने वालों को समझाइश करते हुए मास्क वितरण भी किया जाएगा। बार-बार की समझाइश के बाद भी मास्क नहीं पहनने पर चालान भी काटा जाएगा। जिला कलक्टर ने नगर परिषद आयुक्त को निर्देश दिए कि विभिन्न विभागों की समन्वित टीम बनाकर वार्ड वार इसकी पहुंच बनाई जाए और मास्क के लिए जन चेतना का प्रभावी कार्य किया जाए। इस टीम में शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग,महिला अधिकारिता,स्काउट गाइड एवं संबद्ध अन्य विभागों की भी भागीदारी रहेगी। उन्होंने निर्देश दिए कि अभियान को प्रभावी बनाने के लिए तथा अधिकाधिक जन जुड़ाव के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन भी एक माह के दौरान किया जाए।
विभिन्न संगठनों की भी रहेगी भागीदारी
इसी क्रम में शहर के विभिन्न व्यापारिक प्रतिष्ठानों एवं सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ जिला कलेक्टर ने वार्ता कर अभियान में उनसे सहयोग का आह्वान किया एवं उनके सुझाव भी लिए गए।जिला कलेक्टर आशीष गुप्ता ने कहा किसमन्वित प्रयासों से हमने कोरोना पर नियंत्रण पाया है। अब इसे शून्य पर लाना है। यह तभी संभव होगा जब हम सब मिलकर जन आंदोलन में सक्रिय भागीदारी निभाएं। व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर सामाजिक दूरी की पालना हेतु प्रवेश के स्थान पर रस्सी लगाने को अनिवार्य रूप से लागू करने के निर्देश दिए और मास्क नहीं पहनने वाले को सामान नहीं देने की कड़ाई से पालना भी सुनिश्चित करने को कहा।
विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों ने सुझाव रखे और सहयोग का आश्वासन दिया। सभी ने एक स्वर से माना कि मास्क के लिए तथा सामाजिक दूरी बनाने के लिए आमजन को प्रेरित करना बहुत जरूरी है और इस तरह कोरोना को हम मात दे सकेंगे।
बैठक में अतिरिक्त कलक्टर एयू खान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार, उपखंड अधिकारी डॉ. पूजा सक्सेना, समाजसेवी विजयराज सिंह हाडा, रेडक्रॉस सचिव अशोक विजय धु्रव व्यास, चारभुजा मंदिर समिति के अध्यक्ष पुरुषोत्तम पारीक, अशोक शर्मा एवं विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी प्मौजूद रहे।