हाथरस घटना व पुलिस के व्यवहार की निंदा करते हुए सामाजिक संगठनों ने श्रद्धांजलि अर्पित की

दतिया से पीयूष राय की रिपोर्ट

 

दतिया@rubarunews.com  देश को शर्मसार करने वाली घटना की पुनरावृत्ति होने पर हाथरस के दुष्कर्म पीड़िता के निधन व पुलिस द्वारा मृतिका के शव को परिजनों को सुपुर्द न करने जैसे निंदनीय पर कृत्य पर घोर निंदा करते हुए मध्यप्रदेश मातृत्व स्वास्थ्य हकदारी अभियान, जिला बाल अधिकार मंच व आस नेटवर्क द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन ऑनलाइन वेविनार के माध्यम से किया।

श्रद्धांजलि सभा मे सम्मिलित नेटवर्को के सदस्यों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि इस प्रकार के कृत्य करने वाले लोगों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करते हुए फांसी की सजा सुनाई जावे। परिजनों को यथासंभव मदद मुहैया कराई जावे। बेटियों के साथ होने वाली घटनाओं को रोकने के लिए कठोरतम प्रावधान किए जावे। साथ ही शासन प्रशासन में बैठे लोगों पर जो अपराधियों को बचाने का प्रयास करते हैं उन पर भी प्रभावी कार्यववाही होना चाहिए।

नेटवर्क साथी मांग करते हैं कि ऐसे घटना में संलिप्त लोगों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई करते हुए फांसी की सजा दी जाए। पुलिस अधिकारियों पर भी उचित कार्यवाही की जावे। श्रद्धांजलि सभा में अभियान साथी डॉ. बबीता विजपुरिया, उमा नौगरैया, दया मोर, प्रतिभा बुन्देला, शीतल रायकवार, एड कल्पनाराजे बैस, एड कृपाल सिंह बुन्देला, लवकुश शर्मा, जितेन्द्र कुमार, सरदार सिंह गुर्जर, बलवीर पाँचाल, रामजीशरण राय, अशोककुमार शाक्य, दीक्षा लिटौरिया, आकांक्षा लिटौरिया, प्रीति वर्मा, सुबोध शर्मा आदि ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।