बीएमओ अपनी कार्य प्रणाली सुधारें-कलेक्टर

 श्योपुर.desk/@www.rubarunews.com>> कलेक्टर श्रीमती प्रतिभा पाल ने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत कई योजना और कार्यक्रम संचालित किये जा रहे है। जिनका लाभ पात्र व्यक्तियो को मिलना चाहिए। साथ ही  नसबंदी का शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा किया जावे। इस दिशा में बीएमओ अपनी सभी योजना ओर कार्यक्रम के क्रियान्वयन में अपनी कार्य प्रणाली को सुधारे। साथ ही लक्ष्यपूर्ति के प्रयास करे। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में स्वास्थ्य विभाग के कार्याे की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रही थी।
बैठक में जिला पंचायत के सीईओ  हर्ष सिंह, सीएमएचओ डाॅ एआर करोरिया, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास  ओपी पाण्डेय, सिविल सर्जन डाॅ आरबी गोयल, डीपीएम  सौमित्र बुधोलिया, जिले के बीएमओ और जिला चिकित्सालय के सभी चिकित्सक उपस्थित थे।
कलेक्टर श्रीमती प्रतिभा पाल ने कहा कि नसबंदी कार्य में काम नही करने वाले अमले पर भी कार्यवाही की जावे। साथ ही कार्य पूरा होने तक वेतन आहरण नही किया जावे। उन्होने कहा कि एएनसी रजिस्टेªशन में काम नही करने वाले कर्मचारियों की आगामी आदेश तक सैलरी रोकी जावे। इसी प्रकार पोर्टल पर एन्ट्री नही करने वाले कर्मचारियों पर भी कार्यवाही की जावे। साथ ही हाईऐस प्रेगनेंसी में काम नही करने वाली एएमएम का चिन्हांकन किया जावे। साथ ही उनका वेतन एवं वेतन वृद्धि रोकने की दिशा में कार्यवाही जावे। उन्होने कहा कि अनमोल एमपी एप पर हितेग्राहियों की एन्ट्री की कार्यवाही होनी चाहिए। साथ ही आरसीएच में काम नही करने वाले अमले की वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही की जावे। यह वेतनवृद्धि कार्य पूर्ण होने तक रूकी रहेगी।
कलेक्टर ने कहा कि मैदानी स्तर पर स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से आरोग्य केन्द्र संचालित किये जा रहे है। यह आरोग्य केन्द्र नियमित रूप से खुलने चाहिए। उन्होने कहा कि निरीक्षण के दौरान ढोगाखेडा कराहल का आरोग्य केन्द्र बंद मिला था। साथ ही आशा कार्यकर्ता भी नही मिली। आशा कार्यकर्ता को हटाया जावे। उन्होने प्रसव पूर्ण रजिस्टेशन कार्य की समीक्षा की। साथ ही एएनसी रजिस्टेशन पर भी चर्चा की।
इसी प्रकार संस्थागत प्रसव कवरेज के अंतर्गत कुल 11909 प्रसव किये गये है। जिसमें 10312 संस्थागत प्रसव एवं 1597 घर पर प्रसव हुए है। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना की समीक्षा के दौरान शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने के निर्देश चिकित्सको को दियेे। साथ ही इन्सीटूशन डिलेवरी में कम लक्ष्य के प्रति जिले के तीनो बीएमओ को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये।
बैठक में प्रसूति सहायता योजना में 1031 हितग्राहियों की डिलेवरी हुई है। उनको भुगतान दिलाने की कार्यवाही शीघ्र की जावे। कलेक्टर ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की योजना एंव कार्यक्रमों की आगामी समीक्षा 15 मार्च को की जोवगी। जिसमें प्रगति दिखना चाहिए।
इसी प्रकार टीकाकरण ंएवं शिशु एवं मातृ मृत्यु, हेल्थ एवं वेलफेयर कार्य की समीक्षा की गई। साथ ही एनसीडी, स्क्रीनिंग का कार्य सभी एनएम के माध्यम से कराने के निर्देश बीएमओ, सीमएओ और सिविल सर्जन को दिये। बैठक में डीपीएम  सौमित्र बुधोलिया ने दस्तक कार्यक्रम, इन्द्रधनुष कार्यक्रम की प्रगति से अवगत कराया। साथ ही इन्द्रधनुष कार्यक्रम के चतुर्थ चरण 02 से 12 मार्च तक संचालित करने के बारे में जानकारी दी।

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com