तीन दिवसीय आनंदक परिचय सम्मेलन ग्वालियर में सम्पन्न हुआ*

ग्वालियर.Desk/ @www.rubarunews.com- राज्य आनंद संस्थान द्वारा ग्वालियर में आयोजित तीन दिवसीय आनंदक परिचय सम्मेलन 28, 29 एवं 31 अगस्त को सम्पन्न हुआ।
1-इस सम्मेलन में प्रकृति हमे क्या देती है।
2-दुसरो में जो कमिया दिखती है, उसके कुछ अंश क्या हमारे अंदर भी है?
3- ऐसा कोनसा कारण है जिससे हमारे रिश्ते टूट जाते है और जुड़ जाते है।
ऐसे कई विषयों पर चर्चा हुई। इस सम्मेलन 40 आनन्दको ने भाग लिया। एवं आनंद की अनुभूति प्राप्त की।
दिनांक 28 अगस्त को सम्मेलन का प्रारंभ ऑनलाइन सायं 3:30 बजे से प्रारंभ हुआ, होस्ट संचालन पवन दीक्षित आनन्दम सहयोगी द्वारा किया गया। समन्वयक श्री ए के शर्मा के अनुरोध पर श्री इंद्रपाल सिंह जी संचालक राज्य आनंद संस्थान म.प्र. ने अपने उदबोधन में राज्य स्तरीय आनन्द विभाग की गतिविधियों की जानकारी दी।
मास्टर ट्रेनर श्रीमती दीप्ति उपाध्याय ने अपने जीवन मे आये अनुभव बताये।

अगले दिन 29 अगस्त को सहभागिता कर रहे आनंदक श्रीमति स्वराज्य माथुर, डॉ प्रवीण कुमार, तृप्ति शर्मा मास्टर ट्रेनर बाल किशन शर्मा ने अपने अनुभव व्यक्त किये , एवं ट्रेनर राजा खान ने सत्र व संचालन किया ।

विजय उपमन्यु आनन्दम सहयोगी ने सहभागियों से आत्म पोषण कैसे करे विषय पर चर्चा की एवं श्री ए के शर्मा जी ने विषय सूची कि हमे किस किस को माफ करना है के बारे में बताया।
श्री सुनील चोपड़ा ने इन विषयों पर अपने विचार व्यक्त किये और बताया कि इस सम्मेलन ने उनकी आत्मा को झकझोर कर रख दिया। कि अभी तक मैं कहाँ था, क्या कर रहा था। यदि पूर्व में इस अल्पविराम कार्यक्रम से जुड़ता तो आज मैं नाम का आनंदक नही। असली में आनंदमय होता।

अंतिम दिन 31 अगस्त को मास्टर ट्रेनर होस्ट ने जीवन मे शांति की शक्ति से परिचय करवाया, करेक्शन-कनेक्शन-डायरेक्शन को समझाया। डॉ. रूपा आनन्द ने भी अपने अनुभव शेयर किये ।
इसी क्रम में दीप्ति उपाध्याय ने बताया कि मेरे जीवन रूपी गिलास में क्या-क्या है और मैने इस गिलास में आवरण के अन्दर की कमियों को अल्पविराम के माध्यम कैसे दूर किया ।
अंत मे ए के शर्मा जी ने ग्वालियर में चल रही गतिविधियों से अवगत कराया कि कोविड में 150 आनन्दको द्वारा खाद्यान वितरण किये गए । आनंद क्लबो में मुख्य आनन्दको मे अंशुमान शर्मा, ऋषिकेश वशिष्ट, कौशल किशोर की मुख्य भूमिका रही।
कार्यक्रम का समापन राज्य आनंद संस्थान म. प्र.के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अखिलेश अर्गल द्वारा संस्थान की गतिविधियों की जानकारी देते हुए किया गया। उनके द्वारा राज्य आनंदम संस्थान के द्वारा संचालित कार्यक्रम अलोहा एवम अल्पविराम से जुड़कर सहभागिता करने की अपील की।