कोरोना संकट में सुरक्षित जीवन के लिए मास्क उपयोगी-कलेक्टर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com- कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि नोबल कोरोना वायरस संक्रमण केश अभी भी आ रहे है। जिनके मद्देनजर राज्य शासन द्वारा नई गाइडलाइन जारी की है। जिसमें कोरोना संकट में सुरक्षित जीवन के लिए मास्क को अनिवार्य किया गया है। उन्होने कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए सोशल डिस्टेसिंग का पालन के साथ घर से निकलते समय मास्क का उपयोग करने की जानकारी आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर में सभागार में आयोजित संकट प्रबंधन समूह की बैठक में दी।
बैठक में पुलिस अधीक्षक  सम्पत उपाध्याय, विधायक  बाबू जण्डेल, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा, पूर्व विधायक  बृजराज सिहं चौहान,  सत्यभानू सिहं चौहान, अन्य समिति सदस्य  कैलाश नारायण गुप्ता, डाॅ एसके तिवारी, विधायक प्रतिनिधि  गिर्राज सर्राफ, एसडीएम  रूपेश उपाध्याय, जिला शिक्षा अधिकारी  वीएस रावत, होमगार्ड के कमाण्डेट  कुलदीप मलिक, जिला महिला बाल विकास अधिकारी  ओपी पाण्डेय, सिविल सर्जन डाॅ आरबी गोयल, क्षेत्र संयोजक आजाक  एमपी पिपरैया, कलेक्टर कार्यालय के ओएस  दीलिप बंसल, कोविड प्रभारी  योगेश जादव,  कृष्णकांत उपस्थित थे।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा रोको-टोको अभियान 24 नवंबर से चलाने का निर्णय लिया है। जिसके अंतर्गत मास्क को लगाना अनिवार्य किया गया है। पुलिस प्रशासन द्वारा मास्क नही लगाने वालो पर 100 रूपये का जुर्माना किया जावेगा। जिसमें पुलिस द्वारा दो मास्क संबंधित को दिये जावेगे। उन्होने कहा कि कोरोना संकट के दौरान सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जावे। साथ ही सेनेटाईज रहकर कोरोना से सुरक्षित रहे। उन्होने कहा कि शादी समारोह के लिए शासन के निर्देशो का पालन किया जावे। जिसमें वर-वधु पक्ष के 50-50 व्यक्ति शामिल रहेगे। इससे अधिक की स्वीकृति संबंधित क्षेत्र के एसडीएम से लेनी होगी।
पुलिस अधीक्षक  सम्पत उपाध्याय ने बैठक में कहा कि कोरोना का खतरा अभी जारी है। जिसमें मद्देनजर गृह विभाग द्वारा नवीन निर्देश जारी किये गये है। उन्होने कहा कि कोरोना के खतरे से निजात पाने के लिए मास्क का उपयोग किया जावे। साथ ही सेनेटाईज रहकर सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जावे। जिससे कोरोना संकट से निजात मिलेगी। साथ ही स्वयं परिजन भी सुरक्षित रहेगे। उन्होने जनप्रतिनिधियो और नागरिको से भी शासन की नई गाइडलाइन का पालन करने की भी अपेक्षा की।
बैठक में पूर्व विधायक  बृजराज सिहं  चौहान, सत्य भानु सिहं चौहान  कैलाश नारायण गुप्ता ने बैठक में सुझाव दिये कि नोबल कोरोना वायरस का खतरा अभी भी बरकरार है। जिसके लिए शासन द्वारा गाइडलाइन जारी कर दी गई है।
जिसमें मास्क का उपयोग करना, सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना और सेनेटाईजर के उपयोग को अनिवार्य किया गया है।
राज्य शासन के नवीन निर्देशो की बैठक में दी जानकारी
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक में राज्य शासन द्वारा जारी नवीन निर्देशो की जानकारी दी। जिसमें प्रदेश में कन्टेनमेंट जोन को छोड़कर शेष किसी भी जिले, शहर, क्षेत्र में लॉकडाउन नहीं लगाया जायेगा। अन्तर्राज्यीय एवं अन्तरजिला परिवहन सतत एवं निर्बाध रूप से चल सकेगा। अधिक संक्रमण के जिलों इन्दौर, भोपाल, ग्वालियर, रतलाम एवं विदिशा में 21 नवम्बर से आगामी आदेश तक प्रत्येक रात्रि 10 बजे से प्रात 6 बजे तक दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे तथा नागरिक अति आवश्यक होने पर ही इस अवधि में आवागमन कर सकेंगे। औद्योगिक मजदूरों के आवागमन एवं ट्रकों के परिवहन पर कोई रोक नहीं रहेगी।
इसी प्रकार कक्षा 1 से 8वीं तक के समस्त स्कूल आगामी आदेश तक बंद रहेंगे। कक्षा 9 से 12 के स्कूली छात्र-छात्राएं तथा कॉलेज के छात्र-छात्राएँ विभागों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप गाइडेंस के लिए स्कूल/कॉलेज आ सकेंगे। फेस मास्क का उपयोग पब्लिक प्लेसेस में समस्त नागरिक करें।
श्रीरामेश्वर मेला इस वर्ष नही लगेगा
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक में प्रभारी अपर कलेक्टर एवं एसडीएम  रूपेश उपाध्याय ने अवगत कराया कि नोबल कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए इस वर्ष श्रीरामेश्वर मेला नही लगेगा। मेला लगाना प्रतिबंधित किया गया है। प्रशासनिक दृष्टि से फिर भी सुरक्षा व्यवस्था लगाई जावेगी।