एक दीया बेटी के नाम प्रतियोगिता के परिणाम घोषित

बून्दी .KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com-उमंग संस्थान बूंदी द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मिशन के अंतर्गत दीपावली पर्व पर आयोजित एक दिया बेटी के नाम प्रतियोगिता के परिणामों की बुधवार को संस्थान अध्यक्ष सविता लोरी ने घोषणा की। प्रतियोगिता में 6 देशों सहित 18 राज्यों के सहभागित्व सहित काफी लोकप्रियता प्राप्त की।

उमंग संस्थान के सचिव कृष्णकांत राठौर ने बताया कि समाज में बेटियों को विशिष्ट स्थान देने के उद्देश्य से आयोजित एक दीया बेटी के नाम प्रतियोगिता में प्रतिभागियों को बेटी के नाम एक दीपक जलाकर उसका सेल्फी सोशल मीडिया पर प्रेषित करना था। जिसमें प्रतिभागियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया तथा परिणामों में विशिष्ट सहभागिता पुरस्कार के लिए अमेरिका की अंजली इसरानी तथा जम्मू की रुही सुल्ताना व उरफाना अमीन को चुना गया। वहीं एकल श्रेणी में बेटी के नाम दीप जलाकर बून्दी की लेखा शर्मा विजेता व भीलवाड़ा की सुषमा हाड़ा उप विजेता बनी। युगल श्रेणी में तृप्ति -मानवी शर्मा बून्दी से विजेता व बेंगलोर की अल्पना दुबे उपविजेता, बाल श्रेणी में नासिक की नन्ही बालिका सौरभी विपिन तुपे विजेता रही। पब्लिक ओपिनियन में बून्दी की मानवी शर्मा ने प्रथम व छत्तीसगढ़ कि कुमारी माधुरी भिलाई द्वितीय पुरुस्कार प्राप्त किया।

प्रतियोगिता संयोजक नमिता जिंदल ने बताया कि निर्णायक गण द्वारा श्रेष्ठ प्रदर्शन पर रनर अप पुरुस्कार हेतु छत्तीसगढ़ दुर्ग की पुष्पा एंदा,जांजगीर की अर्चना शर्मा, जयपुर की अंकिता चौहान, उदयपुर के भगवती लाल साहू व बांसी की आशा-हिमानी जैन का चयन किया गया। टॉप 10 अवार्ड हेतु बून्दी की इशा,दिवाकर जैन,आर्या सैनी,रक्षन्दा नामा,गौरान्शी,एनी झा, निक्की नामा, परी राठौर सहित कोरिया, महाराष्ट्र बिसे लाल गायकवाड, सान्गरिया हनुमानगढ की पूजा गौस्वामी व रोहतक हरियाणा के ख्वाईश रुपेश दायमा को चुना गया।

सर्वधर्म सद्भाव व व्यापक लोकप्रियता के साथ कॉन्टेस्ट में दस लाख से अधिक दर्शकों ने बनाया बेटियों के सम्मान का कीर्तिमान

समन्वयक सर्वेश तिवारी ने बताया कि सेल्फी विद दीया एक दीया बेटी के नाम जागरूकता अभियान में अमेरिका,इराक, नेपाल, श्रीलंका,कैलिफोर्निया व इरान देशो के साथ तेलंगाना,छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, उड़ीसा, हरियाणा, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, तमिल नाडु, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, महाराष्ट्र, झारखंड, गुजरात, बिहार व नई दिल्ली से लोगों ने सहभागिता की। हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई सर्वधर्मावलम्बियों ने उत्साह पूर्वक भाग लिया। कॉन्टेस्ट में जहां पोस्ट 85300 दर्शकों तक अपनी पहुंच बना पाई, वहीं पोस्टस को 256233 बार देखा गया,ऑवरऑल सेल्फ़ी विद दीया कॉन्टेस्ट की पोस्टों को 10,67,697 बार हिट किया गया जो कि एक कीर्तिमान है।

प्रतियोगिता में ये रहे निर्णायक

बून्दी ब्रश के सरंक्षक नन्द प्रकाश शर्मा के पर्यवेक्षण में जयपुर की सामाजिक कार्यकर्ता राष्ट्रपति अवार्डी डॉ. मोनिका मेहरु, बालिका सशक्तिकरण व मेडिकल क्षेत्र से जुड़ी रोहतक हरियाणा की डॉ. खुशबू, गांधीधाम गुजरात से

तकनीकी एक्सपर्ट परितोष आचार्य व शिक्षाविद व मनोवैज्ञानिक डॉ. प्रतिभा आचार्य बाह्य निर्णायक थे, जबकि अनुराधा लोकेश जैन व प्रमोद कुमार सिखवाल आंतरिक निर्णायक रहे।