स्कूल, आगनबाडी भवनो में पेयजल के समुचित प्रबंध किये जावे-कलेक्टर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>> कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के माध्यम से जल जीवन मिशन के अंतर्गत स्कूल एवं आंगनवाडीओं में 100 दिवसीय योजना बनाने की दिशा में जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन आज जिला पंचायत श्योपुर के सभागार में किया गया।
कार्यशाला में सीईओ जिला पंचायत  राजेश शुक्ल, कार्यपालन यंत्री पीएचई  संतोष श्रीवास्तव, डीपीओ महिला बाल विकास  ओपी पाण्डेय, सीएमएचओ डाॅ बीएल यादव, पीओ मनरेगा  विक्रम सिंह जाट, जिला सलाहकार श्रीमती आराधना पाराशर, सहायक यंत्री ओपी नागर एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि  पीएचई विभाग के माध्यम से 100 दिन की कार योजना के अंतर्गत पेयजल उपलब्ध कराने की दिशा में प्रयास किये जावे। इन प्रयासो के अंतर्गत सभी आंगनवाड़ी एवं स्कूलों में सभी विभागों के साथ सामंजस्य स्थापित करते हुए पेयजल व्यवस्था के समुचित प्रबंध किये जावे। उन्होनेे कहा कि इस दिशा में रणनीति तैयार की जाकर पेयजल के इंतजाम सुनिश्चित कराये जावे। उन्होने कहा कि जिन स्कूल एवं आंगनवाडियों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। जिनमें पीने का पानी परिलक्षित होना चाहिए। उन्होने कहा कि पंचायत भवन एवं सामुदायिक भवन एवं अन्य सभी शासकीय भवनों में पेयजल की सुविधा भी विकसित कराई जावे। इस दिशा में सभी विभागों के अधिकारियों की जिम्मेदारियां तय की जावे।
कार्यशाला में कार्यपालन यंत्री पीएचई  संतोष श्रीवास्तव द्वारा बताया गया कि शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास के अधिकारी अवगत कराएं यदि कोई स्कूल आंगनवाड़ी या स्वास्थ्य केंद्र बिना पेयजल की सुविधा के वंचित नही रहना चाहिए। इसी प्रकार शासकीय भवनों की सूची तैयार कर मैदानी अमला के माध्यम से पेयजल का परीक्षण कराया जावे। साथ ही लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की 71 राइटिंग की योजनाओं में जो काम आरंभ किया गया है। उसकी जानकारी भी उन्होने दी।