धर्मगुरु स्वामी अग्निवेश ने ली अंतिम सांस

नई दिल्ली/ दतिया @rubarunews.com सामाजिक कार्यकर्ता और आर्य समाज के जाने-माने नेता स्वामी अग्निवेश का शुक्रवार शाम को निधन हो गया। कुछ दिन पहले ही स्वामी अग्निवेश की तबीयत अचानक बिगड़ जाने के बाद उनको नई दिल्ली के इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंसेज (आईएलबीएस) में भर्ती कराया गया था। वरिष्‍ठ डॉक्‍टरों की निगरानी से उनका इलाज चल रहा था। लेकिन स्‍वास्‍थ्‍य में कोई सुधार नहीं हो रहा था। लिवर सिरोसिस और मल्टी ऑर्गन फेल्योर के कारण उन्‍हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।

1981 में स्वामी अग्निवेश ने बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की स्थापना की थी। स्वामी अग्निवेश ने 2011 में अन्ना हजारे की अगुवाई वाले भ्रष्टाचार-विरोधी आंदोलन में भी हिस्सा लिया था। उन्होंने रियलिटी शो बिग बॉस में भी हिस्सा लिया था।  वह 8 से 11 नवंबर के दौरान तीन दिन के लिए बिग बॉस के घर में भी रहे। स्वामी अग्निवेश विधायक और मंत्री भी रहे।

सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का शुक्रवार शाम दिल का दौरा पड़ने से दिल्ली के ILBS अस्पताल में निधन हो गया. वह अस्सी वर्ष के थे. उन्हें मंगलवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, स्वामी अग्निवेश का इलाज लीवर सिरोसिस के लिए किया जा रहा था और उन्हें मल्टी ऑरगन फेल्यर के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था।

अस्पताल के एक बयान के अनुसार, आज शाम उनकी हालत बिगड़ने लगी और उन्हें शाम 6 बजे दिल का दौरा पड़ा. डॉक्टरों ने उन्हें बचाने का प्रयास किया लेकिन असफल रहे, और उन्हें शाम 6.30 बजे मृत घोषित कर दिया गया।

एक सामाजिक कार्यकर्ता, धर्मगुरु और हरियाणा के पूर्व विधायक, स्वामी अग्निवेश की मौत की खबर से लोग सदमे में हैं, कांग्रेस सांसद शशि थरूर और वरिष्ठ वकील और कार्यकर्ता प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर शोक जताया है।

थरूर ने लिखा, “मैं उनके निधन से स्तब्ध और दुखी हूं. जोश और दृढ़ विश्वास के व्यक्ति थे, उन्होंने कभी अपनी उम्र को नहीं देखा, न ही देखा और न ही व्यवहार किया! उनके निधन से देश का नुकसान हुआ है और मैं उन लाखों लोगों के साथ शोक व्यक्त रता हूं जिनके अधिकारों के लिए उन्होंने संघर्ष किया. ओम शांति।”