दुर्गापुर में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ महिला सभा सम्पन्न हुई

दतिया @rubarunews.com>>>>>>>> बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत संचालित जागरूकता अभियान के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग व निर्देशन में संचालित कार्यक्रमों की श्रृंखला में ग्राम दुर्गापुर में *बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ महिला सभा* का आयोजन किया गया। आयोजित महिला सभा में एएनएम गीता श्रीवास्तव ने बेटियों के महत्व को परिभाषित करते हुए गिरते हुए लिंगानुपात के दुष्परिणामों के बारे में जानकारी दी गई। एमपीडब्ल्यू हजारी प्रसाद ने बच्चों व महिलाओं को टीकाकरण के बारे में जानकारी दी गई।

 

आशा कार्यककर्ता कु. खुशबू यादव ने बालिका शिक्षा के महत्व बताते हुए शिक्षित बेटी पीढियों को शिक्षित करने में महती भूमिका निभाती है बताया। अभियान सहयोगी बलवीर पाँचाल ने अभियान के उद्देश्य व कार्ययोजना के बारे में जानकारी दी। पीयूष राय ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के प्रावधानों की जानकारी दी गई। दीक्षा लिटौरिया ने पॉक्सो एक्ट के बारे में जानकारी दी।

स्वदेश संस्था के संचालक व पीएलव्ही रामजीशरण राय ने पीसीपीएनडीटी अधिनियम-1994 कानूनी प्रावधानों के बारे में बताया गया जिसमें कानूनी प्रावधानों के तहत जांच करने वाले चिकित्सक, सम्मिलित परिजन व प्रेरक के साथ ही लिंग चयन कराने में सम्मिलित सभी पर कानूनी कार्यवाही, सजा के बारे में बताया गया। आशा कार्यकर्ता वर्षा राजपूत व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता देवकी अहिरवार ने प्रेरक गीत प्रस्तुत करते हुए लाडो अभियान की जानकारी दी।

आंगनवाडी कार्यकर्ता श्रीमती मालती ने लाडली लक्ष्मी योजना के बारे में व्यापक जानकारी दी साथ ही महिला सभा में उपस्थित महिलाओं व किशोरी बालिकाओं ने अपने अपने विचार व्यक्त करते कुछ प्रश्नों को आयोजक समूह के समक्ष रखे गए। जिनका सहज व सरल ढंग से समाधान किया गया। महिला सभा के समापन पर उपस्थित महिलाओं ने रैली में सम्मिलित होकर समुदाय को बेटियों के महत्व को बताया।

कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों के साथ ही समाज के पुरुषों, महिलाओं और बच्चों ने भागीदारी की। कार्यक्रम में सुबोध शर्मा, आयुष राय, सरल तलरेजा, अभय दाँगी, उमेश पाल आदि सहयोगी दल में सम्मिलित रहे। उक्त जानकारी बलवीर पाँचाल ने दी।