शिक्षकों का भीख मांगना शिवराज सरकार के माथें पर कलंक 

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> एक शिक्षक देश के लाखों युवाओं को शिक्षित कर देश का भविष्य तैयार करता है, लेकिन मध्यप्रदेश में  उसका खुद का भविष्य ही अंधकार मय है तो देश का भाविष्य कैसा होगा ये कल्पना करना बेहद मुश्किल है। ये बात कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. अनिल भारद्वाज ने कांग्रेस द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कही। श्री भारद्वाज ने कहा सोशल मीडिया और न्यूज चैनल पर जिस प्रकार एक चयनित शिक्षक  के द्वारा घर घर जाकर भीख मांगने का वीडियो वायरल हुआ। ये तस्वीर प्रदेश की शिवराज सरकार के मांथे पर कलंक का काम कर रही हैं। तीन साल से चयनित होकर भी अपनी नियुक्ति न होने पर चयनित युवा बेरोजगार बने घूम रहे हैं और भीख मांगने को मजबूर हो ये निंदनीय है। सरकार को तुरंत उन्हें भर्ती करने की दिशा में पहल करनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता अनिल भारद्वाज ने तंज कसते हुए कहा भाजपा देश और प्रदेश में युवाओं को रोजगार देने में असफल साबित हुई है। इसलिए उन्हें अपना नाम बदलकर भारतीय जनता पार्टी से भारी बेरोजगार पार्टी रख लेना चाहिए।

कांग्रेस के युवा नेता डॉ. भारद्वाज ने कहा  प्रदेश में इस समय 30 हजार 594 शिक्षक प्रतियोगी परीक्षा में चयन होने के बाद से दर-दर भटक रहे हैं। शिक्षक पात्रता परीक्षा का विज्ञापन वर्ष 2018 में निकला था और जनवरी 2019 में परीक्षा आयोजित हुई। इसमें पास हुए अभ्यर्थी के सत्यापन की भी प्रक्रिया शुरू हो गई, लेकिन नियुक्ति आज तक नहीं दी जा रही है। आखिर क्यों? सरकार को तुरंत ऐसे शिक्षकों को नियुक्ति प्रदान करनी चाहिए। अगर सरकार ने जल्द नियुक्ति नही दी तो कांग्रेस पार्टी उनके साथ है। और उनके आंदोलन को समर्थन देने का कार्य करेगी।