स्वच्छ भारत मिशन योजना-ग्रामीण योजना क्रियान्वयन में ब्लाॅक प्रभारी की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी, योजना में 30 दिसम्बर तक लाये प्रगति -सीईओ

बूंदी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com- स्वच्छ भारत मिशन- ग्रामीण योजना में ब्लाॅक प्रभारी अधिकारियों की महत्वपर्ण जिम्मेदारी है। योजना में आवश्यक प्रगति लाने के लिए ब्लाॅक प्रभारी अधिकारी ट्रेक पत्रावली संधारित करे तथा विभागीय प्राथमिकता के आधार पर प्रकरणों का समयबद्ध निस्तारण करे तथा 30 दिसम्बर तक योजना में प्रगति लावे। यह निर्देश मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार ने मंगलवार को जिला परिषद स्थित कक्ष में योजना की समीक्षा करते हुए दिए।

उन्होंने निर्देश दिए कि योजना के किसी भी पेरा मीटर में पिछड़ने की स्थिती में ब्लाॅक प्रभारी अधिकारी की जिम्मेदारी तय कर नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि ग्राम पंचातय स्तर पर एलओबी व एनएलओबी सूची में जोडे़ गये अपात्र परिवारों के नाम जिन्हें नियमानुसार हटाया जाना है को विभागीय निर्देशानुसार टीम गठित कर 2 दिवस में सत्यापन कर हटाये जाने की कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित किया जावे। उन्होने बताया कि विभागीय स्तर से टीम में ब्लाॅक कलस्टर सहायक विकास अधिकारी, सबंधित ग्राम पंचायत का ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत सहायक, वार्ड मेंबर व स्वच्छताग्राही निर्धारित है।

सीईओ प्रतिहार ने निर्देश दिए कि जिले की पुनर्गठित ग्राम पंचायतों की भौगोलिक एवं सांख्यिकी सूचना आगामी 3 दिवस में जिला स्तर पर प्रेषित की जावे। एलओबी व एनएलओबी के तहत निर्मित शौचालयों की प्रगति विभागीय वैब पोर्टल पर 30 दिसम्बर तक अपलोड़ करवायी जावे। पूर्ण सामूदायिक स्वच्छता काॅम्पलेक्सों को पूर्ण करवाकर जियोटैग करवाये।

इस दौरान योजना के जिला प्रभारी अधिकारी कम सहायक विकास अधिकारी राज्य पाल सिंह, जिला कार्यक्रम समन्वयक निजामुद्दीन, पंचायत समिति बूंदी के ब्लाॅक प्रभारी अधिकारी राजीव शर्मा, तालेड़ा के सत्यनारायण मेहरा, हिण्डोली के रामस्वरूप मीणा, के0 पाटन के लेखराज सिंह हाड़ा तथा जिला एमआईएस मेनेजर शिवराज मीणा तथा लेखाकार निलेश जैन मौजूद रहे।