स्कूल अभिभाक संघ ने फीस बसूली के विरुद्ध सौंपा मांगपत्र

स्कूल अभिभावक संघ ने जबरन फीस बसूली के विरुद्ध माँग पत्र सौंपा

स्कूल जब से, फीस तब से : स्कूल अभिभाक संघ

दतिया। स्कूल अभिभावक संघ के तत्वावधान में अभिभावक संघ के पदाधिकारियों व सदस्यों ने जिले में संचालित समस्त स्कूलों के अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के साथ एकत्रित होकर कोरोना काल में शैक्षणिक गतिविधियों न किए जाने के चलते विभिन्न शुल्क माफ किए जाने संबंधी और जबरन फीस बसूली के विरोध में दतिया के सभी स्कूलों के प्राचार्यों को ज्ञापन, माँग पत्र सौपा गया।


ज्ञापनदाताओं ने पीताम्बरा पीठ मंदिर के समीप रघुनाथ गंगा होटल के सामने एकत्रित होकर माँग पत्र सहित रानी लक्ष्मीबाई पब्लिक स्कूल के प्राचार्य मोहित श्रीवास्तव से संवाद करते हुए माँग की। मांग में निम्न विंदु रहे कि कोरोना महामारी में लॉक डाउन में अन्य संस्थाओं के साथ ही विद्यालय संचालन बैंड रहा और शैक्षणिक सत्र भी प्रभावित हुआ लेकिन जिले में संचालित स्कूलों से प्रबंधन द्वारा निरन्तर अभिभावकों पर फीस बसूली का दबाब बनाया जा रहा है जो अमानवीय और अनैतिक है। हम मांग करते है कि जब तक माननीय उच्च न्यायालय का आदेश नहीं आता तब तक अभिभावकों से फीस का मेसेज नहीं आयेगा और lfse ने कहा की जो भी सॉल्यूशन होगा बैठकर करेंगे तब तक फीस की बात नही होगी

उक्त मांग पत्र संबंधी गत दिवस रत्नेश विजपुरिया के यहाँ हुई अभिभावक संघ की अहम बैठक मैं ये निर्णय लिया गया था। उक्त माँग पत्र देने वालों में अभिभावक संघ के अध्यक्ष मनोज तिवारी, सचिव अजय राज शर्मा, संजय सरवरिया, शंकर साहू, आलोक श्रीवास्तव, विजय शर्मा, चंद्रकांत मुड़िया सहित अन्य पदाधिकारी व सदस्यों के अतिरिक्त बड़ी संख्या में अभिभावकों की उपस्थिति रही। उक्त जानकारी संघ के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दी।