सौ किताब पढने से बेहतर है एक किताब को सौ बार पढें – आयुषी जैन

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com-
मध्यप्रदेश के विदिशा जिले की सिरोंज तहसील से चयनित आईएएस आयुषी जैन ने कहा है कि सौ किताबों को एक एक बार पढने से बेहतर है कि एक किताब को सौ बार पढ़ा जाए। वे आज जूम एप पर आयोजित निःशुल्क वेबीनार के माध्यम से यूपीएससी की तैयारी कर रहे छात्र छात्राओं को सफलता के मंत्र बता रही थी।
इस दौरान निःशुल्क ओन लाइन कोचिंग क्लासेज के डायरेक्टर एवं समन्वय परीक्षित भारती, दिल्ली से हृदय रोग विशेषज्ञ डाक्टर जितेन्द्र सिंह, इंदौर से एमबीए राहुल मालवीय, रीवा से भूगोल विशेषज्ञ विकास सोनी, श्योपुर से रामलखन मीणा और लगभग 70 छात्र छात्राएं जो मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के शामिल थे।
41 रैंक से सफल आयुषी जैन ने कहा कि तैयारी की वजह होना चाहिए जो विपरीत परिस्थितियों से बाहर लाने में कारगर होती है जैसा कि मैं कार्पोरेट सेक्टर से थी तो मैने सोचा कि समाज को ज्यादा देना है और उसके लिए आईएएस बनना जरूरी है और ईमानदारी से कोशिश की सफल भी हुई। उन्होंने छात्र छात्राओं के प्रारंभिक, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार को लेकर पूछे गए सवालों के जवाब दिए। उन्होंने छात्र छात्राओं की मांग पर यह भी विश्वास दिलाया कि सप्ताह में एक दिन जूम एप पर उपस्थित होकर किसी विषय पर लेक्चर दे सकते हैं जब तक ट्रेनिंग पर नहीं जाते हैं। इस दौरान राहुल मालवीय ने छात्र छात्राओं की ओर सवाल आयुषी जैन से समक्ष रखे और अतिथि ने सटीक जवाब देकर छात्र छात्राओं को लाभान्वित किया।