बड़ौदा नगर परिषद के लिए घमासान तय – अनारक्षित घोषित हुआ अध्यक्ष का पद

श्योपुर[email protected] ज़िले की बड़ौदा नगर परिषद में अध्यक्ष पद का चुनाव खासा कड़ा व रोचक होगा। इसकी वजह है प्रथम नागरिक के पद का अनारक्षित घोषित होना। इस स्थिति ने बत्तीसा मुख्यालय के मुकाबले को घमासान बनाना तय कर दिया है। भाजपा और कांग्रेस दोनों बड़ौदा नगर क्षेत्र में अच्छी स्थिति में हैं। यही वजह है कि दोनों दलों के टिकट को लेकर भारी खींचतान तय मानी जा रही है। वहीं बसपा की सक्रियता इस मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने वाली होगी। पिछली बार परिषद का अध्यक्ष पद सामान्य महिला के लिए था। जीत कांग्रेस उम्मीदवार श्रीमती भारती सिंह तोमर को मिली थी। जिनका कार्यकाल खासा प्रभावी रहा। ऐसे में परिषद की कमान संभालने वाले रितेश तोमर की बड़ी दावेदारी रहनी तय है। सियासी दिग्गजों के गढ़ बड़ौदा में सामान्य व आरक्षित दोनों वर्गों के नेताओं की भरमार है। ऐसे में टिकट के दावेदारों की भीड़ पर पार पाना तीनों मुख्य दलों के लिए चुनौती का सबब होगा। टिकटों के बंटवारे के बाद अंतर्कलह और भितरघात के हालात भी बन सकते हैं। जो बड़ौदा अंचल की राजनीति का एक अलग पहलू है। बहरहाल, अध्यक्ष पद की दावेदारी के लिए अंदरूनी प्रयास तेज हो गए हैं। देखना है कि इस बार की जंग कितनी रोचक व रोमांचक होती है।