प्रदेश एवं जिले के 80 मजदूर पहंचे सामरसा बाॅर्डर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>मुख्यमंत्री  शिवराज सिहं चौहान की पहल पर नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के दौरान चैत काटने राजस्थान एवं हरियाणा गयेे श्योपुर एवं मप्र के अन्य जिलों के कुल 80 मजदूर आज मप्र-राजस्थान की सीमा बाॅर्डर सामरसा पहुंचे। जहां पर जिला प्रशासन द्वारा शा.मा.वि. सामरसा में ठहरने, शौचालय, पेयजल और भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई। साथ ही सभी मजदूरो को बस के माध्यम से उनके घर भिजवाने की कार्यवाही की।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान से श्योपुर जिले के सामरसा बाॅर्डर पर शिवपुरी के 08, श्योपुर के 03, दमोह के 10, सतना के 03 एवं हरियाणा से आये श्योपुर जिले की वीरपुर तहसील के 23, कराहल के 31 एवं बडौदा के 02 मजदूर आये है। इन सभी मजदूरो को बस के माध्यम से उनके घर पहुंचाने की सुविधा जिला प्रशासन द्वारा सुनिश्चित की गई। इसी प्रकार सभी मजदूरो की सामरसा बाॅर्डर पर स्क्रीनिंग एवं स्वास्थ्य परीक्षण मेडिकल टीम द्वारा किया गया। इसके अलावा सभी मजदूरों को शौचालय, ठहरने, पीने का पानी और भोजन की व्यवस्था के बाद उनके घर वापस भिजवाने की कार्यवाही को अंजाम दिया।
राजस्थान के सवाई माधौपुर से सामरसा बाॅर्डर पर पहुंची जिले की तहसील कहराल के पिपरानी गांव की श्रीमती विमला पत्नि श्री लखन आदिवासी ने बताया कि मैं चैत काटने के लिए राजस्थान के सवाई माधौपुर गई थी। जहां पर कोरोना वायरस लगने से लाॅकडाउन में फस गई थी। मैंने अपने घर वापसी की सुविधा मप्र के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिहं चौहान के कारण ही प्राप्त की है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान की पहल पर ही राजस्थान सरकार ने अपनी बसो के माध्यम से श्योपुर बाॅर्डर सामरसा चैकी पर पहुंचाने की व्यवस्था की। जहां पर कलेक्टर श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव की पहल पर प्रशासन के अधिकारी/कर्मचारियो ने मेहमानो की तरह सुविधाएं दी गई। साथ ही मेरे गांव बस से पहंुचाया गया। यह सभी करिश्मा मुख्यमंत्री श्री चैहान की देन से ही हुआ है।