अशासकीय विद्यालयों की आपातकालीन बैठक में कई संचालक बोले फीस न आने से बिल्डिंग का नहीं निकल रहा किराया, कहां से दें स्टाफ को बेतन

भिण्ड। अशासकीय विद्यालय के संचालकों की एक आपातकालीन बैठक वर्तमान कोरोना से उत्पन्न परिस्थितियों को लेकर बुधवार को शहर के सिटी सेन्ट्रल स्कूल के मीटिंग हाल में आयोजित की गयी, जिसमें अटेर, गोहद, लहार, मेहगांव सहित जिले से संचालकों ने भाग लिया। इस दौरान संचालकों ने चर्चा करते हुए कहा
कोरोना काल में जिले में 90 प्रतिशत स्कूल आर्थिक परेशानी के कारण बंद होने की कगार पर है जबकि भिण्ड जिले को छोडकर अन्य जिलों में न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए समय पर फीस जमा की जा रही है। मीटिंग में कई संचालकों ने बताया कि हमारा स्कूल किराए पर चलता है, मकान मालिक को किराया समय पर न देने के कारण खाली करने की नौवत आ गई है गाडियों की किश्ते जमा न होने से फाइनेनशर द्वारा जब्त की कार्यवाही की जा रही है। सभी संचालकों ने निर्णय लिया कि सभी संस्थाओं में फीस के सबंध में शासन द्वारा पारित आदेश का नियमानुसार पालन किया जाकर टयूशन फीस ली जायेगी।
छात्र को बिना ऑनलाईन/ऑफलाईन/ मूल्यांकन /परीक्षा के किसी को भी कक्षा उन्नति (प्रमोट) नहीं करेंगे
विद्यालय किसी भी छात्र को बिना ऑनलाईन/ऑफलाईन/ मूल्यांकन /परीक्षा के किसी को भी कक्षा उन्नति (प्रमोट) नहीं करेंगे। कोई भी विद्यालय आपस में एक दूसरे के छात्र-छात्राओं को बिना शाला त्याग प्रमाण पत्र (टी.सी) के अपने विद्यालय में प्रवेश नही देंगे एवं उसके साथ-साथ जो छात्र बिना स्थानान्तरण प्रमाण पत्र प्राप्त किए विद्यालय से अन्य विद्यालय में प्रवेश लेते है तो उसकी जानकारी भी सभी स्कूल संगठन के व्हाटस्एप ग्रुप पर शेयर करेंगे। जिससे उस विद्यालय जिसमें बच्चों ने प्रवेश लिया है उनकी जिम्मेदारी होगी कि वह जिस विद्यालय से छात्र बिना टी.सी लिए गायब हुआ है वहाँ का नो डयूज करा कर शाला त्याग प्रमाणपत्र प्राप्त कर नए प्रवेशित विद्यालय में जमा करें। यह भी तय किया गया कि यदि कोई छात्र शाला त्याग प्रमाण पत्र चाहता है तो वर्तमान माह तक का शुल्क लेकर तत्काल टीसी जारी की जाए । बिना कोई ठोस कारण के टीसी नहीं रोकेंगे। यह भी निर्णय लिया गया यदि कोई गलत तरीके से शाला त्याग प्रमाणपत्र को बनवाकर विद्यालय में जमा करेगा तो संगठन के माध्यम से ऐसे शाला त्याग प्रमाणपत्रों की जाँच कर कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
उच्च न्यायालय का सभी संस्थाएं करायें विधिवत पालन
माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर खण्डपीठ द्वारा पारित आदेश जिसमें कि टयूशन फीस लेने का आदेश प्रदान किया गया है उसका सभी संस्थायें विधिवत पालन करेंगी। यह भी तय किया गया कि शीघ्र ही संगठन के प्रमुख संचालक वर्तमान में उत्पन्न परिस्थतियो कें सम्बन्ध में माननीय जिलाधीश महोदय से मुलाकात करेगें।
संगठन को और अधिक मजबूत किये जाने एवं उसके गठन सबंधी आगामी कार्यवाही करते हुए पुन: बैठक आयोजित की जायेगी।
मीटिंग में यह संचालक रहे उपस्थित
उपरोक्त निर्णय आज की बैठक में लिए गए एवं यह भी तय हुआ कि सभी विद्यालय अच्छे शैक्षणिक वातावरण का निर्माण करने एवं एक दूसरे की मदद करने के लिए दृढसंकल्पित रहेंगे इस बैठक में संचालक राजेश शर्मा, धमेन्द्र कुशवाह आर.बी.एस तोमर राधेगोपाल यादव, सुरेन्द्र सिंह, संदीप मिश्रा, अमित दुबे, विवेक यादव, रिषी शिवहरे,कौशल शर्मा, आर.के. दीक्षित, पवन समाधिया, जे.एस बघेल, सुषमा जैन, अशोक शर्मा, अरविंद भदौरिया, हरदत्त राजावत अवधेश शर्मा, श्रवण पाठक, पवन भदौरिया, आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री जे.पी. यादव ने की