किसान चंबल प्रोग्रेस-वे को बनाने में प्रशासन का सहयोग करें -कमिश्नर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>> मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर के अथक प्रयासो से करीबन 06 हजार करोड रूपये की लागत से चंबल प्रोग्रेस-वे को कोटा से श्योपुर होते हुए भिण्ड जिले तक बनाने को मजूरी दी जा चुकी है। इस वे के बनने से क्षेत्र के विकास के द्वार खुलेगे। इसलिए किसान चंबल प्रोग्रेस-वे को बनाने में प्रशासन का सहयोग करें। उक्त उद्गार चंबल संभाग के कमिश्नर  आरके मिश्रा ने आज श्योपुर जिले की वीरपुर तहसील की ग्राम पंचायत पाचो के चंबल नदी के बीहडो में बसे ग्राम पांचईयापुरा के शा. प्रा. विद्यालय पर किसानो से सीधी वार्ता के दौरान चर्चा करते हुए व्यक्त किये।
इस अवसर पर जिला पंचायत के सीईओ  राजेश शुक्ल, अपर कलेक्टर  एसआर नायर, एसडीएम विजयपुर  त्रिलोचन गौड, तहसीलदार वीरपुर  वीरसिह अवासिया, सीईओ जनपद ब्रम्हेन्द्र गुप्ता, नायब तहसीलदार श्री नवलकिशोर जाटव, संरपच श्री निमरछा, श्री श्रीपत जाटव एवं राजस्व विभाग का मैदानी अमला तथा क्षेत्र के किसान उपस्थित थे।
चंबल संभाग के कमिश्नर  आरके मिश्रा ने किसानो से सीधी चर्चा करते हुए कहा कि चंबल प्रोग्रेस-वे बनने से क्षेत्र के किसानो के खुशहाली के द्वार खुलेगे। साथ ही किसानो की जिंदगी हरियाली आयेगी। उन्होने कहा कि जिस प्रकार से चंबल नहर इस क्षेत्र में डाली गई है। उसी की भांति यहां बनने वाला प्रोग्रेस-वे जिंदगी की दूसरी लाईफ लाईन बनेगा। उन्होने कहा कि सडक बनने पर ग्रामीणो की भूमि के दाम बढेगे। साथ ही विभिन्न विभागो की मूलभूत सुविधाएं आपके क्षेत्र में पहुंचेगी। जिससे गांवो की तरक्की होगी। साथ ही इन्दौर जैसी सडक मिलने का अवसर प्राप्त होगा। इसी प्रकार पूर्व में नोएडा क्षेत्र के किसानो की भूमि की जगह पर नोएडा का विकास कराया गया है। जिससे उस क्षेत्र की लाईफ लाईन बन गई है। साथ ही वहां के किसानो को कई गुना फायदा हुआ है। उन्होने कहा कि इस चंबल प्रोग्रेस-वे के क्षेत्र में  मुरैना एवं श्योपुर जिले के 57 गांव आयेगे। यह प्रोग्रेस-वे नदी किनारे के बीहडो के पास से बनाया जावेगा।
कमिश्नर चंबल संभाग  आरके मिश्रा ने कहा कि चंबल प्रोग्रेस-वे के पांचईयापुरा र्पाइंट से गांव की बिटला देवी की 4 बीघा 14 बिस्वा जमीन में से 13 विस्बा जमीन सडक में जावेगी। जिसके बदले प्रशासन उनको 01 बीघा जमीन देगी। साथ ही उनकी शेष 4 बीघा जमीन की किमते कई गुना बढेगी। जिससे उनको सीधा फायदा होगा। इसलिए क्षेत्र के किसान उनकी भूमि की भांति दूरदर्शी फायदे को समझते हुए चंबल प्रोग्रेस-वे डालने मंे प्रशासन का सहयोग करे। उन्होने कहा कि किसानो के लिए यहा डलने वाली सडक विकास में सहायक बनेगी। साथ ही कम दूरी में मुरैना, दिल्ली, बम्बई, कोटा पहुचकर अपनी फसलो को उचित दम पर बेचने की सुविधा प्राप्त होगी। उन्होने कहा कि जैसी हरियाली क्षेत्र के किसानो के यहां अभी है। वैसी सुविधाएंे किसानो को उपलब्ध कराई जावेगी। उन्होने कहा कि किसानो की समस्या एवं कठिनाईयो के निदान के लिए एक सेल बनाई जावेगी। इस
सेल का प्रभारी डिप्टी कलेक्टर होगा।
आयुक्त चंबल संभाग श्री मिश्रा ने कहा कि इस क्षेत्र के जिन किसानो की जमीन जायेगी। उनकी कठिनाई एवं समस्याओ का यह सेल निराकरण करेगी। उन्होने कहा कि चंबल प्रोग्र्रेस-वे बनने से जिन किसानो की जमीन जायेगी। उन किसानो के विकास के द्वार खुलेगे। साथ ही किसान भाग्यशाली बनेगे। इसलिए प्रोग्रेस-वे बनाने की गंभीरता को किसान समझकर अपना भरपूर सहयोग देकर विकास की गंगा में बढ चढकर हिस्सा ले। उन्होने क्षेत्र के किसान भूरा जाटव से चर्चा कर उनकी जमीन प्रोग्रेस-वे में जाने की शंकाओ का समाधान किया। साथ ही जमीन के बदले जमीन देने का उन्हे आवश्वासन दिया। इसी प्रकार संवाद के दौरान क्षेत्र के किसान  सुनील प्रजापति से चर्चा की। तब उन्होने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मामा  शिवराज सिहं चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर द्वारा हमारे क्षेत्र को चंबल प्रोग्रेस-वे की सौगात दी गई है। यहां से प्रोग्रेस-वे निकालने से क्षेत्र का विकास होगा। कमिश्नर ने ग्राम पांचईयापुरा के क्षेत्र में चंबल प्रोग्रेस-वे के पाईट का अवलोकन किया। साथ ही पटवारी, राजस्व निरीक्षक एवं तहसीलदार, नायब तहसीलदार से प्रोग्रेस-वे में जाने वाली भूमि के सर्वे नंबरो की जानकारी ली।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

क्या बॉलीवुड सिर्फ फिल्म प्रमोशन के लिए जेएनयू के साथ है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close