लोकतांत्रिक अधिकारों के दमन के खिलाफ भाकपा का विरोध दिवस

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com-मध्यप्रदेश में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रदेश व्यापी आव्हान के तहत 15 जुलाई को लोकतांत्रिक अधिकारों के दमन के खिलाफ विरोध दिवस मनाया गया ।कोरो ना के संक्रमण के कारण सार्वजनिक स्थल पर विरोध प्रदर्शन संभव नहीं हो सकने कि स्थिति में सारे प्रदेश में भाकपा के हजारों सदस्यों ने अपने अपने स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया ।

विभिन्न प्रदर्शनों में भाकपा के नेताओं ने कहा कि भाजपा सरकार की फासीवादी प्रवृत्तियों के कारण भारत का संविधान ,लोकतांत्रिक अधिकार और अभिव्यक्ति की आज़ादी संकट में है ।सामाजिक न्याय ,धर्मनिरपेक्ष मूल्यों और जनता के हितों की रक्षा की आवाज उठाने वाले राजनीतिक दलों के नेताओं ,जन संगठनों के सदस्यों ,साहित्यकारों ,संस्कृति कर्मियों,पत्रकारों , बुद्धिजीवियों को प्रताड़ित किया जा रहा है ।फर्जी प्रकरण दायर कर जेलों में बंद किया जा रहा है ।सरकार से सवाल करने वालों को देशद्रोही साबित करने की साजिशें हो रही हैं ।भाकपा ने इन फासीवादी प्रवृत्तियों की कड़ी भर्त्सना करते हुए जनता से इसके खिलाफ लामबंद होने का आव्हान किया है ।भाकपा ने मांग की है कि बुद्धिजीवियों ,राजनीतिक दलों के नेताओं और जन संगठनों के सदस्यों के खिलाफ दायर फर्जी प्रकरण समाप्त कर उन्हें रिहा किया जाए ।सामान्य स्थिति होने के बाद भाकपा द्वारा इस मुद्दे पर व्यापक रूप से तीव्र विरोध प्रदर्शन किया जाएगा ।शैलेन्द्र शैली

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

क्या बॉलीवुड सिर्फ फिल्म प्रमोशन के लिए जेएनयू के साथ है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close