ज्योतिरादित्य सिंधिया को बताया चिड़िया घर वाला टाइगर

टाइगर जिंदा है पर दामोदर सिंह का पलटवार : उपचुनाव की तैयारी हुई तेज

दतिया @rubarunews.com मध्यप्रदेश में तख्तापलट की राजनीति एवं भाजपा सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार के बाद प्रदेश की 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुये अब बयानों की राजनीति भी शुरू हो गई है। इस पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष दामोदर सिंह यादव ने ज्योतिराज सिंधिया के टाइगर अभी जिंदा है के बयान पर पलटवार कर चिड़ियाघर का टाइगर बताते हुए जोरदार निशाना साधा है।

 

दामोदर सिंह यादव ने कहा कि सिंधिया और शिवराज को लगता है कि बिकाऊ विधायकों को मंत्री बनाकर जनता की नाराजगी से बचाया जा सकता है। लेकिन मेरा मानना है कि मंत्री का तमगा भी उनकी सुनिश्चित हार को नहीं टाल सकता। वहीं खुद को टाइगर बताने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा के चिड़ियाघर में बंद हो गए हैं। कांग्रेस के अंदर ग्वालियर चंबल संभाग में पार्षद से लेकर सांसद तक का टिकट फाइनल करने वाले और खुद को महाराज समझने वाले सिंधिया अब दिल्ली में नरेंद्र सिंह तोमर के बंगले पर गार्डन में जमीन पर बैठे देखे गए। इससे सिद्ध होता है कि टाइगर हो या कोई अन्य जानवर चिड़ियाघर में बंद होने के बाद उसके मास्टर के इशारों पर ही नाचना पड़ता है।

 

उक्त बात प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष दामोदर सिंह यादव ने पिछड़ा वर्ग कांग्रेस की जिला कार्यकर्ता बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए तथा मीडिया से चर्चा कर कही है। मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि अंग्रेजों से लड़ाई लड़ कर अपने देश को आजाद कराने वाली कांग्रेस पार्टी हमेशा जनता की पहली पसंद रही है। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के जन्म से पहले देश का संपूर्ण पिछड़ा वर्ग एवं दलित वर्ग भी कांग्रेस के साथ खड़ा था। इन वर्गों के लोग यह चाहते थे कि उनकी जाति एवं वर्ग के लोगों को कांग्रेस में बड़े नेता के रूप में जिम्मेदारी दी जाए और राजा महाराजाओ ही नहीं बल्कि किसानों एवं गरीबों को भी पार्टी में बराबरी का नेतृत्व मिले।

 

ग्वालियर, चंबल संभाग की कांग्रेस सिंधिया के जाने से दशकों बाद आजाद हुई है। वही दामोदर सिंह यादव ने कहा कि जनता के निर्णय का अपमान करते हुए अलोकतांत्रिक तरीके से खरीद-फरोख्त कर कांग्रेश की जन हितेषी सरकार को गिरा कर सत्ता में आने वाली भा जा पा के गले की फांस बना मंत्रिमंडल 100 दिन बाद घोषित हो पाया हैं। भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि विधानसभा की सदस्यता के बिना 14 लोगों को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई।

 

जिला बैठक में विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश उपाध्यक्ष रामकिशोर यादव ने कहा कि दतिया जिले की भांडेर विधानसभा किसान एवं पिछड़ा वर्ग बाहुल्य है। इसलिए उस सीट को कांग्रेस की झोली में डालने की जिम्मेदारी पिछड़ा वर्ग कांग्रेस की भी बनती है। बैठक की अध्यक्षता कर रहे पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के जिला अध्यक्ष महिपाल सिंह गुर्जर ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि कांग्रेस पार्टी में पिछड़ों का प्रतिनिधित्व और बढ़ेगा एवं दलित व पिछड़ों की दम पर अगले लोकसभा चुनाव को जीत का राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे। इस अवसर पर गया प्रसाद पाल, डीआर राहुल, वीर सिंह पटेल, रामकुमार सरपंच, अमित राजपूत, नाजिम खान, प्रदीप गुर्जर, जगन्नाथ ने विचार व्यक्त करते हुए उपचुनाव जीतकर कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने पर जोर दिया।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

क्या बॉलीवुड सिर्फ फिल्म प्रमोशन के लिए जेएनयू के साथ है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close