सोशल डिस्टेंसिग के साथ विकास कार्यो को पूरा करावें-कलेक्टर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>> नवागत कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिलें में संचालित विभिन्न विभागो के विकास कार्यो की समीक्षा बैठक कलेक्टर चेंबर में आज आयोजित की गई। इस बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, पीडब्ल्यूडी, पीआईयू, जल संसाधन, आरईएस, प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना, आरडीसी के कार्यो की समीक्षा की गई। साथ ही नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर विभागीय कार्य सोशल डिस्टेंसिग के साथ पूरा कराने के निर्देश कार्यालय प्रमुखों को दियें।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रीष्मकाल के दौरान पेयजल व्यवस्था सुचारू बनाये रखने के लिए हैण्डपम्प एवं नलजल योजना के कार्य समय सीमा में पूर्ण कराये जावे। साथ ही कार्यो को कराने के लिए सोशल डिस्टेसिंग की व्यवस्था अपनाई जावे। साथ ही जिन हैण्डपम्पो में सिंगल फेस मोटर डालने की आवश्यकता है। उनके लिए मोटर शासन स्तर से मगवाने की कार्यवाही की जावे। उन्होने कहा कि पीआईयू के माध्यम से 100 सीटर पेन्डिग छात्रावास का कार्य पूरा कराया जावे।
इसी प्रकार लाॅ कालेज के लिए एजेन्सी फिक्स की जा चुकी है। इस कार्य को आगे बढाने की कार्यवाही की जावे। उन्होने कहा कि सकी सेंटर का कार्य छत स्तर पर पहुंच गया है। इस कार्य को पूर्ण कराने के लिए गति आनी चाहिए। इसी प्रकार पीआईयू के अंतर्गत सभी 06 कार्य प्रगति पर चल रहे है। उनको समय सीमा मंे पूरा कराया जावे। उन्होने कहा कि पुर्नवास केन्द्र के कार्य में गति लाई जावें। साथ ही पुर्नवास केन्द्र में निशक्तजनो के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं नियमानुसार विकसित की जावे।
नवागत कलेक्टर  श्रीवास्तव ने कहा कि लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत मेटेनेंस के कार्यो में प्रगति लाई जावे। साथ ही बडौदा, मसावनी पहुंच मार्ग के कार्य को समय सीमा में पूरा कराया जावे। इसी प्रकार जिन सडको के पंेचवर्क के कार्य कराये जाने है। उन कार्यो को गैग के माध्यम से कराया जावे। साथ ही सोशल डिस्टेसिंग की प्रक्रिया अपनाई जावे। उन्होने कहा कि जल संसाधन विभाग के अंतर्गत स्टाॅप डैम के कार्य समय पर पूर्ण कराये जावे। इसी प्रकार विभाग के अतंर्गत चल रहे 04 कार्यो में प्रगति लाई जावे। साथ ही आरईएस के अंतर्गत जो कार्य प्रगति पर चल रहे है। उनको नियत अवधि में पूरा करावे। इसी प्रकार प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण सडक योजना मंे जिन सडको का काम कराया जाना है। उनमें सोशल डिस्टेसिंग की प्रक्रिया अपनाई जावे। इसी प्रकार आरडीसी के ंअंतर्गत 44 किलोमीटर की 03 सडके बनाई जा रही है। उन्हें समय पर पूर्ण करने की कार्यवाही की जावे।
बैठक में पीएचई के कार्यपालन यंत्री  संतोष श्रीवास्तव, पीडब्ल्यूडी  संकल्प गोलिया, जल संसाधन  सुभाष गुप्ता, पीआईयू  विपिन सोनकर एवं अन्य अधिकारियों ने विभाग में संचालित कार्यो की जानकारी दी। साथ ही प्रगति पर चल रहें कार्यो की वस्तु स्थिति से अवगत कराया। बैठक में पीएचई के कार्यपालन यंत्री  संतोष श्रीवास्तव, पीडब्ल्यूडी  संकल्प गोलिया, जल संसाधन  सुभाष गुप्ता, पीआईयू  विपिन सोनकर एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

क्या बॉलीवुड सिर्फ फिल्म प्रमोशन के लिए जेएनयू के साथ है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close